संसद मार्ग पहुंचा किसानों का मार्च, राहुल-केजरीवाल करेंगे आगुवाही

गुरुवार से रामलीला मैदान में डेरा डाले देशभर के हजारों किसानों ने आज भारी-भरकम सुरक्षा के बीच संसद की ओर मार्च शुरू कर दिया. कर्ज राहत और उपज का उचित मूल्य देने समेत उनकी कई मांगें है. मार्च के मार्ग भारी मात्रा पर पुलिसकर्मियों को तैनात किये गये है.

कुछ ही देर में किसान संसद का घेराव कर सकते है. बाराखंभा से आगे बढ़ता हुआ किसानों का मार्च अब संसद मार्ग पहुंच गया है. जो जंतर-मंतर से काफी पास है. वे पूर्ण कर्ज माफी के साथ फसल की लागत का डेढ़ गुना मुनाफा दिलाने के लिए आवाज बुलंद करेंगे. उधर दिल्ली पुलिस ने किसानों को लुटियन की नई दिल्ली में आने की अनुमति नहीं दी थी लेकिन खबर है कि बाद में इसे लेकर सहमति बन गई है. अब किसान नई दिल्ली में प्रवेश कर सकते है.

नयी दिल्ली जिले में उप-निरीक्षक रैंक तक के लगभग 346 पुलिसकर्मियों को तैनात किया गया है. अन्य जिलों के 600 पुलिसकर्मी भी उनकी सहायता के लिए मौजूद रहेंगे. निरीक्षक से लेकर अतिरिक्त डीसीपी रैंक तक के 71 अधिकारियों के साथ-साथ नौ पुलिस कंपनियां भी मौजूद है. बता दें कि आंध्र प्रदेश, गुजरात, मध्य प्रदेश, महाराष्ट्र, तमिलनाडु, पश्चिम बंगाल और उत्तर प्रदेश समेत देशभर से आए किसान बृहस्पतिवार को रामलीला मैदान में इकट्ठे हुए है.

ये किसानों की मांग 

सरकार संसद का विशेष सत्र बुलाकर बीते दिनों किसान संसद की तरफ से पारित दो अहम विधेयकों को पास कराए. पहला कानून किसानों को एक बार में पूरी तरह से ऋण मुक्त किया जाए. दूसरा कृषि उपज का उचित और लाभकारी मूल्य से जुड़ा है. इसमें किसानों की आय फसल की लागत का डेढ़ गुना करने का प्रावधान है.
सुरक्षा के कड़े इंतजाम