जानिए केले के पत्ते में खाना खाने के स्वास्थ्य लाभ

आमतौर पर लोग अपना वजन बढ़ाने के लिए दूध के साथ केले का सेवन करते हैं, तो पेट के रोगों में भी केले का सेवन करना बेहद फायदेमंद होता है, लेकिन क्या आपने कभी केले के पत्तों पर खाना खाने के फायदों के बारे में सुना है, तो शायद आपका जवाब न में होगा.

आपने अक्सर साउथ इंडिया के लोगों को केले के पत्तों पर खाना खाते या परोसते हुए जरूर देखा होगा,इसलिए आज हम भी आपको केले के पत्तों पर खाना खाने के 5 अनसुने फायदों के बारे में बता रहे हैं जिसे अपनाकर आप भी अपनी सेहत बेहतर का पहले से ज्यादा ख्याल रख सकेगें.

केले के पत्तों पर खाना खाने के ये हैं फायदे-:

1. खाने के पोषक तत्वों करते हैं बढ़ोतरी-: जब भी हम केले के पत्तों पर गर्म खाना परोसते हैं, तो केले के पत्तों के पोषक तत्व भी भोजन के पोषक तत्वों में आसानी से मिलकर भोजन के पोषक तत्वों को दुगुना कर देते हैं. इसलिए हमेशा केले के पत्तों पर ही खाना खाना चाहिए.

2. नेचुरल एंटी बैक्टीरियल होता है-: आमतौर पर हम जिन बर्तनों में खाना खाते हैं उसे केमिकल वाले साबुन से धोते हैं जो हमारी सेहत को धीरे-धीरे नुकसान पहुंचाते हैं, जबकि केले के पत्तों पर खाना खाने से आपको किसी भी तरह के साइड इफेक्ट्स का सामना नहीं करना पड़ता है. क्योंकि ये नेचुरल एंटी बैक्टीरियल होते हैं और कीटाणुओं को मारने में सहायक होता है, इसलिए केले के पत्ते पर नियमित खाना खाने से आपके शरीर को बीमारी नहीं होती है. इसके साथ ही इसे आसानी से पानी से साफ करके प्रयोग में लाया जा सकता है.

3. ग्रीन टी वाले गुणों से भरपूर-: अक्सर आपने ग्रीन टी के सेहत से जुड़े फायदों के बारे में सुना होगा, उसी तरह केले के पत्तों में भी पॉलीफिनॉल नामक एंटी आक्सीडेंट गुण पाया जाता है, जो आपकी सेहत को अंदरूनी रूप से इम्यून सिस्टम को मजबूत बनाता है.

4. स्किन के लिए होता है फायदेमंद-: मौसम बदलने पर सबसे ज्यादा असर हम सबकी स्किन पर पड़ता है, लेकिन अगर हम रोजाना केले के पत्तों पर खाना खाते हैं तो हम स्किन से जुड़ी कई सारी समस्याओं से आसानी से छुटकारी पा सकते हैं. क्योंकि केले के पत्तों में प्रचुर मात्रा में एपिगालोकेटचीन गलेट और इजीसीजी, पॉलीफिनॉल्स जैसे तत्व पाये जाते हैं, इसलिए हमेशा केले के पत्तों पर ही भोजन करना चाहिए.

5. पर्यावरण और सेहत के है अनुकूल-: आमतौर पर हम घर के बाहर जो भी कुछ खाते या पीते हैं वो अक्सर प्लास्टिक से बने बर्तन या बोतलों में मिलता है, जो हमारी सेहत और पर्यावरण के लिए बेहद नुकसानदायक होता है,क्योंकि प्लास्टिक को आसानी से खत्म नहीं किया जा सकता, जबकि केले के पत्तों को आसानी से मिट्टी में मिलाकर खाद बनाया जा सकता है, वहीं ये सेहत के लिए भी अपने पोषक तत्वो की वजह से बेहद ही फायदेमंद होता है.