मिजोरम: कांग्रेस को लगा बड़ा झटका, विधानसभा अध्यक्ष हिफेई भाजपा में हुए शामिल

मिजोरम में सत्ताधारी कांग्रेस को विधानसभा चुनाव से पहले राज्य एक बड़ा झटका लगा है. विधानसभा अध्यक्ष हिफेई ने सोमवार को अपने पद और पार्टी से इस्तीफा दे दिया और वह भाजपा में शामिल हो गए. हिफेई मिजोरम में सत्ताधारी कांग्रेस के पांचवें विधायक हैं, जिनने सितंबर से लेकर अबतक सदन और पार्टी से इस्तीफा दे दिया है. पूर्वोत्तर के आठ राज्यों में से मिजोरम एक मात्र ऐसा राज्य है, जहां कांग्रेस का शासन है.

यहां 40 सदस्यीय विधानसभा के लिए 28 नवंबर को चुनाव होने हैं. सात बार विधायक रह चुके हिफेई ने सोमवार सुबह कहा कि उन्होंने विधानसभा उपाध्यक्ष को अपना इस्तीफा भेज दिया है, जिसे उन्होंने स्वीकार कर लिया है. हिफेई उसके बाद पार्टी मुख्यालय, कांग्रेस भवन गए और पार्टी की प्राथमिक सदस्यता से उन्होंने इस्तीफा दे दिया. हिफेई ने बाद में मीडिया से कहा, “एआईसीसी ने पलक सीट (सियाह जिला) से विधानसभा चुनाव लड़ने के लिए मेरे नाम की घोषणा कर दी थी, इसके बावजूद मुझे एक अनिश्चितता की स्थिति में रखा गया था.”

उन्होंने मुख्यमंत्री और मिजोरम प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष ललथनहावला के खिलाफ अपनी नाराजगी जाहिर की. उन्होंने कहा, “मैं पलक सीट से भाजपा के टिकट पर चुनाव लड़ूंगा.” उन्होंने कहा कि भाजपा स्थानीय पार्टियों के साथ मिलकर राज्य में एक गठबंधन सरकार का गठन करेगी. उन्होंने आगे कहा, “कांग्रेस परास्त होगी. भाजपा 40 सदस्यीय मिजोरम विधानसभा में कम से कम पांच सीटें जीतेगी.” हिफेई 2013 में पलट सीट से निर्वाचित हुए थे. इसके पहले उन्होंने 1972 से 1989 के बीच तुइपांग से छह बार विधानसभा चुनाव जीता था.