ये है रोजमेरी के उपयोग से होने वाले स्वास्थ्य लाभ…

रोजमेरी हमारी सेहत के लिए बहुत ही फायदेमंद होता है. रोजमेरी का वैज्ञानिक नाम रोसमारिनुस ओफ्फिसिनालिस है. रोजमेरी को हम गुल मेहंदी, केशवास के नाम से भी जानते है एक नेचुरल औषधि है. इसका इस्तेमाल खाने का स्वाद व सुगंध बढ़ाने के लिए किया जाता है.

लेकिन रोजमेरी सिर्फ खाने का स्वाद ही नहीं बढाती. यह हमारी सेहत के लिए भी अत्यंत लाभकारी है. इसके उपयोग से आपके शरीर की रोग प्रतिरोधक शमता में वृद्धि होती है. इसका इस्तेमाल अनेक तरह के सौंदर्य उत्पादों के लिए भी किया जाता है. कैल्सियम, विटामिन आदि इसमें भरपूर मात्रा में पाए जाते है.

रोजमेरी का स्वाद कड़वा और कसैले होता है, इसका उपयोग सूप और सॉस जैसे खाद्य पदार्थो में स्वाद लाने के लिए किया जाता है. रोजमेरी एक प्रकार का हर्ब है जो सेहत के लिए काफी फायदेमंद माना जाता है. यह बढ़ती उम्र के लक्षणों को रोकने, दर्द से छुटकारा दिलाने और सूजन कम करने में भी सहायक हैं, इसीलिए इसके पौधे को जड़ी बूटी पौधा भी कहते हैं. कैंसर जैसी गंभीर बीमारियों से लड़ने के साथ ही यह आपकी याद्दाशत को भी बढा़ता है. रोजमेरी निम्नलिखित कारणों से फायदेमंद है.

रोजमेरी के 8 स्वास्थ्य लाभ
1. मेमोरी और एकाग्रता बढ़ाए रोजमेरी-: रोजमेरी में एक विशेष प्रकार का तत्व पाया जाता हैं. यह तत्व याददाश्त को बढ़ाने का काम करता हैं और इससे दिमाग भी तेज होता हैं. रोज़मेरी तेल को अरोमाथेरेपी में बहुत ज़्यादा इस्तेमाल किया जाता है. एक अध्ययन 10-11 साल की उम्र के 40 बच्चों पर किया गया. उन्हें 10 मिनट तक रोज़मेरी तेल की खुशबू वाले कमरे में रखा गया. फिर उन्हें एक मानसिक कार्य वाला प्रश्नपत्र दिया गया. इसमें उन बच्चों के नंबर ज़्यादा आए, जो कमरे के अंदर थे. रअसल, इसकी खुशबू से दिमाग में इलेक्ट्रिकल संकेत तेज़ हो जाते हैं. इस वजह से बच्चे मानसिक कार्य में बेहतर परिणाम दिखा पाए. इससे पहले कई अध्ययन हुए थे, जिनमें सामने आया कि रोज़मेरी तेल बड़े व्यक्तियों के दीमाग के लिए बहुत अच्छा है और मस्तिष्क की कार्य क्षमता को बढ़ाता है.

2. तनाव कम करना-: रोजमेरी तनाव को दूर करके आपके दिमाग को शांति पहुंचाने का काम करती है. रोजमेरी की सुगंध वाला रूम फ्रेशनर आपके मूड और तनाव स्थिति में काफी सुधार लाता है.

3. मांसपेशियों में दर्द और अन्य दर्दनिवारक-: रोजमेरी के तेल को दर्द वाली जगह पर लगाने से दर्द में राहत मिलती है. किसी भी प्रकार के मसल्स पेन, जोड़ों में दर्द और आर्थराइटिस की समस्या होने पर रोजमेरी के तेल का नियमित प्रयोग काफी फायदेमंद होता है. रोजमेरी को माइग्रेन का एक प्राकृतिक उपचार माना जाता है. इसके लिए रोजमेरी को एक बर्तन में उबाल लें. सिर को तौलिए से ढंक लें और 10 मिनट तक इसकी भाप लें. इससे माइग्रेन के दर्द में राहत मिलेगी.

4. बाल झड़ने से रोके-: अगर आप लंबे बालों की चाहत रखते हैं तो हर रोज अपने बालों में रोजमेरी के तेल का प्रयोग करें. रोजमेरी बालों को झड़ने से रोकता है साथ ही बालों का वृद्धि भी करता है.

5. अपच और अन्य गैस्ट्रिक समस्याएं-: अक्सर रोजमेरी का प्रयोग पाचन समस्या जैसे पेट में दर्द, गैस, अपच व अन्य गैस्ट्रिक समस्याओं आदि से बचाने के लिए किया जाता है. ऐसी समस्या अक्सर मांसाहारी भोजन के सेवन से पैदा होती है, लेकिन अगर खाना बनाते समय रोजमेरी का प्रयोग किया जाए तो इस गंभीर समस्या से बचा भी जा सकता है.

6. मानसिक ऊर्जा में लाभ दे रोजमेरी-: रोजमेरी में याद्दाशत बढ़ाने वाले तत्व भी पाए जाते हैं. रोजमेरी में कारनोसिक नामक तत्व होता है, जो मस्तिष्क को स्वेस्थक रख उसकी कार्यक्षमता बढ़ाता है. इससे याद रखने की शक्ति तो तेज रहती ही है साथ ही यह अल्जा.इमर जैसे मानसिक रोग से भी बचाव करता है.

7. कैंसर में लाभ-: रोजमेरी में मौजूद कारोनोसोल में कैंसर रोधी गुण पाए जाते हैं. यह ब्रेस्ट कैंसर, प्रोस्टेट कैंसर, कोलोन कैंसर, ल्यूकेमिया और स्किन कैंसर से बचाने में मदद करता है. खाने में रोजमेरी के प्रयोग से खाने का स्वाद तो बढ़ता ही है साथ ही आप कैंसर जैसी जानलेवा बीमारियों से भी बचे रहते हैं.

8. अन्य संभावित लाभ-: रोजमेरी में एंटी एजिंग-तत्व होते हैं इसलिए एंटी एजिंग क्रीम में रोजमेरी का प्रयोग होता है. इसके अलावा इसे घर में लागने से मच्छ्र और कीट दोनों का ही सफाया होता है. इम्युनिटी की क्षमता को बढ़ाने के लिए रोजमेरी का नियमित सेवन करना अच्छा होता है. इसमें मौजूद एंटी-ऑक्सीडेंट,एंटी-इंफेलेमेटरी गुण आपको स्वस्थ रखने में मददगार साबित होते हैं.