सबरीमाला मंदिर पुलिस के नियंत्रण में

केरल के सबरीमाला कस्बे को शनिवार को पूरी तरह पुलिस ने अपने नियंत्रण में ले लिया. एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा कि यहां स्थित प्रसिद्ध भगवान अयप्पा मंदिर पांच नवंबर को पूरे दिन के लिए खुलेगा, जिसके कारण कस्बे को नियंत्रण में ले लिया गया है.

पथनामथित्ता जिला पुलिस अधीक्षक टी. नारायण के मुताबिक, मंदिर कस्बे में 1,500 पुलिस अधिकारियों को तैनात कर दिया गया है और ये छह नवंबर मध्यरात्रि तक यहां तैनात रहेंगे, जब तक मंदिर फिर से बंद नहीं हो जाता है.

उन्होंने कहा कि फिलहाल किसी महिला ने मंदिर में प्रवेश करने का अनुरोध नहीं किया है. नारायण ने कहा, “अगर कोई अनुरोध करता है, तो पुलिस शीर्ष अदालत के फैसले के मुताबिक आगे बढ़ेगी. श्रद्धालुओं के अलावा किसी को भी मंदिर के प्राधिकृत इलाके में जाने की इजाजत नहीं दी जाएगी.”

सुरक्षा इंतजामों पर अतिरिक्त पुलिस महानिदेशक अनिल कांत द्वारा निगरानी रखी जाएगी. पुलिस के मुताबिक, पांबा आधार शिविर से मंदिर जाने वाले रास्ते और मंदिर के गर्भ-गृह के करीब इलाके में किसी को भी जाने की इजाजत नहीं दी जाएगी

मीडिया के लिए भी बंदिशें सख्त कर दी गई हैं और उन्हें केवल पांच नवंबर को ही मंदिर कस्बे पहुंचने की इजाजत दी जाएगी. शनिवार तक पुलिस ने 536 मामले दर्ज किए हैं और 3,719 लोगों को गिरफ्तार किया है.

इनमें से केवल करीब 100 लोग ही जेल में हैं, जबकि बाकियों को जमानत मिल गई है.