सीबीआई मुख्यालय प्रदर्शन के बाद, राहुल ने दी गिरफ्तारी

राहुल गांधी ने सीबीआई निदेशक आलोक वर्मा की पुन: बहाली की मांग को लेकर निकाले गए विरोध मार्च की अगुवाई की और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से इस मुद्दे पर माफी मांगने को कहा. वही आज कांग्रेस ने देशभर में सीबीआइ मुख्यालयों के बाहर प्रदर्शन किया. वहीं, दिल्ली में सीबीआइ मुख्यालय के बाहर कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने भी कांग्रेसी नेताओं के साथ प्रदर्शन किया. इस दौरान पुलिस ने कांग्रेस समेत कई कार्यकर्ताओं को हिरासत में लिया.

कांग्रेस के शीर्ष नेताओं ने इस मार्च में हिस्सा लिया जो सीबीआई मुख्यालय के बाहर पहुंचने के बाद विरोध प्रदर्शन में तब्दील हो गया. अन्य पार्टियों के नेताओं ने भी एकजुटता दिखाते हुए इस विरोध में हिस्सा लिया.

देश की सबसे बड़ी जांच एजेंसी सीबीआइ में मची रार के बीच आज सुप्रीम कोर्ट ने सुनवाई करते हुए सीवीसी को जांच के लिए 15 दिन का समय दिया है. दरअसल, सीबीआइ निदेशक आलोक वर्मा को छुट्टी पर भेजे जाने के मामले में आज सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई हुई थी. आलोक वर्मा ने सरकार के फैसले को चुनौती देते हुए सुप्रीम कोर्ट में याचिका दाखिल की है. आलोक ने सरकार पर जांच एजेंसी में दखलअंदाजी के गंभीर आरोप भी लगाए है. वरिष्ठ वकील फाली एस नरीमन ने सुप्रीम कोर्ट में आलोक वर्मा का पक्ष रखा. वहीं, सीवीसी की तरफ से सॉलिसिटर जनरल तुषार मेहता ने पैरवी की.

इसके अलावा, घूसखोरी मामले में सीबीआइ की ओर से दर्ज एफआईआर को लेकर एजेंसी के विशेष निदेशक राकेश अस्थाना की याचिका पर भी आज सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई होगी. अस्थाना की तरफ से पूर्व अटॉर्नी जनरल मुकुल रोहतगी सुप्रीम कोर्ट में पेश होंगे. इससे पहले, आज सुबह राकेश अस्थाना मुकुल रोहतगी के आवास पर उनसे मिलने भी गए थे.

राहुल ने सीबीआई मुख्यालय के बाहर लगाए गए पुलिस बैरीकेडों के सामने एक ट्रक पर चढ़ गए. प्रदर्शनकारियों को इमारत तक पहुंचने से रोकने की खातिर वहां पुलिस बैरीकेड लगाए गए है. कांग्रेस प्रवक्ता रणदीप सिंह सुरजेवाला के अनुसार राहुल गांधी को गिरफ्तार भी किया गया. जिसके बाद वह लोधी रोड थाने पहुंचे.

सीबीआई मुख्यालय के बाहर विरोध प्रदर्शन पर केन्द्रीय गृहमंंत्री राजनाथ सिंह ने कहा कि कांग्रेस के पास लोगों से जुड़ा कोई मुद्दा नहीं है इसलिए वह इसे मुद्दा बना रहे हैं. हमें जांच रिपोर्ट का इंतजार करना चाहिए.