गुरुग्राम : न्यायाधीश के बेटे की मौत, परिवार ने अंग दान किए

गुरुग्राम के अतिरिक्त जिला एवं सत्र न्यायाधीश कृष्णकांत के बेटे को मंगलवार को अस्पताल द्वारा मृत घोषित कर दिया गया. न्यायाधीश के पुलिस सिक्योरिटी गार्ड ने 13 अक्टूबर को उसे गोली मारी थी, जिसके बाद से वह मेदांता-द मेडीसिटी अस्पताल में ब्रेन डेड के रूप में भर्ती था.

मेडीसिटी के चिकित्सा अधीक्षक ए.के. दुबे ने मीडिया को बताया, “जब 13 अक्टूबर को ध्रुव को गंभीर हालत में अस्पातल में भर्ती कराया गया था, तभी से वह जीवन रक्षक प्रणाली पर था. उसकी मौत मंगलवार तड़के करीब तीन बजे हुई. उसके परिवार ने उसके अंगों को दान कर दिया है.”

न्यायाधीश के गार्ड हरियाणा पुलिस के कांस्टेबल महिपाल सिंह (32) ने 13 अक्टूबर अपरान्ह यहां सेक्टर 49 के भीड़भाड़ वाले आर्केडिया बाजार में न्यायाधीश की पत्नी रितु (38) और बेटे ध्रुव (18) को गोली मार दी थी. न्यायाधीश की पत्नी की उसी रात मौत हो गई थी.