रायबरेली में प्रियंका गांधी के लापता होने के पोस्टर लगे

कांग्रेस के गढ़ रायबरेली में प्रियंका गांधी के खिलाफ सोमवार को ‘इमोशनल ब्लैकमेलर’ और ‘प्रियंका लापता’ के पोस्टर देखने को मिले. रायबरेली संयुक्त प्रगतिशील गठबंधन (संप्रग) की अध्यक्ष व प्रियंका की मां सोनिया गांधी का संसदीय क्षेत्र है.

उत्तर प्रदेश के रायबरेली में रातों-रात लगे इन पोस्टरों में प्रियंका को लापता बताया गया है और कहा गया है कि उनके आखिरी दौरे के बाद से यहां कई हादसे हुए. कांग्रेसी गढ़ में प्रियंका ने आने की जहमत नहीं उठाई जहां उन्हें उनकी मां के उत्तराधिकारी के रूप में देखा जाता है.

राय बरेली में चुनावों के दौरान प्रियंका द्वारा गांधी परिवार का इस शहर से संबंध जोड़ते हुए भावुक होने का भी पोस्टरों में मखौल उड़ाया गया और उन्हें ‘इमोशनल ब्लैकमेलर’ बताया गया.

उन्होंने कहा कि प्रियंका वोट बटोरने के लिए रायबरेली के लोगों की भावनाओं के साथ खेलती हैं. पोस्टर में प्रियंका से सवाल पूछा गया कि वह रायबरेली कब आएंगी. इन पोस्टरों को मुख्य मार्गो, बाजारों, सार्वजनिक स्थानों जैसे त्रिपुला चौराहे व हरदासपुर की दीवारों पर लगाया गया है.

पोस्टरों के जरिए प्रियंका से यहां हरचंदपुर रेल दुर्घटना और ऊंचाहार में एनटीपीसी ब्लास्ट जैसे हादसों में उनकी अनुपस्थिति को लेकर सवाल किए गए हैं.

पोस्टर में यह भी सवाल किया गया कि वह नवरात्र, दुर्गा पूजा व दशहरा जैसे हिंदुओं के त्योहारों में तो नहीं दिखाई दी तो अब क्या ईद में दिखाई देंगी?

वहीं, कांग्रेस नेताओं ने इसे विरोधियों की ‘गंदी हरकत’ करार देते हुए कहा कि वे 2019 के लोकसभा चुनावों में कांग्रेस की वापसी से खौफ खाए हैं.