बिहार : राजद के पोस्टर में नीतीश ‘दशानन’, तेजस्वी राम

राजनीतिक दल अपने विरोधियों पर निशाना साधने का कोई भी मौका हाथ से नहीं जाने देना चाहते हैं. नवरात्रि के मौके पर जहां लोग पूजा-अर्चना के लिए पंडालों में पहुंच रहे हैं, वहीं राजनीतिक दल इस भीड़-भाड़ वाले मौके को भी भुनाने में कोई कोर-कसर नहीं छोड़ना चाह रहे हैं.

यही कारण है कि कांग्रेस और राष्ट्रीय जनता दल (राजद) ने अपने विरोधियों पर निशाना साधने के लिए पोस्टर का सहारा लिया है. राजद के दशहरा के मौके पर पटना में लगे एक पोस्टर को लेकर हालांकि विवाद शुरू हो गया है. पटना स्थित राजद के प्रदेश कार्यालय के ठीक सामने लगे एक पोस्टर में बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार को 10 सिर वाले ‘रावण’ के रूप में दिखाया गया है, जबकि इसी पोस्टर में राजद नेता तेजस्वी यादव को ‘राम’ की भूमिका में दिखाया गया है.

राजद के प्रदेश उपाध्यक्ष और प्रवक्ता आनंद यादव की तरफ से लगाए गए इस पोस्टर के पर राजद के सभी प्रमुख नेताओं की तस्वीरें हैं, वहीं पोस्टर में दोहे के अंदाज में ‘जब-जब रावण ने अत्याचार किया है, तब-तब एक राम ने जन्म लिया है’ लिखा गया है. इस पोस्टर के जरिए तेजस्वी के 21 अक्टूबर से प्रारंभ होने वाले ‘संविधान बचाओ न्याय यात्रा’ में भी लोगों से भाग लेने की अपील की गई है.

इधर, इस पोस्टर के सार्वजनिक होने के बाद जद (यू) ने राजद नेता तेजस्वी यादव पर तंज कसा है. जद (यू) के प्रवक्ता अजय आलोक ने ट्वीट किया, “नवरात्रि में जो मनुष्य अपने को राम और पिता तुल्य व्यक्ति को रावण बता कर खुद पोस्टर लगवाता है, ऐसे व्यक्ति को क्या कहेंगे आप लोग? मां दुर्गा की क्या आवश्यकता है इनको? ये तो स्वयंभू भगवान हैं.”

इससे एक दिन पूर्व कांग्रेस ने भी पटना के कई पूजा पंडालों के समीप पोस्टर लगाकर ‘पूजा धमाका’ किया है. इस पोस्टर के जरिए कांग्रेस ने आम लोगों से नरेंद्र मोदी सरकार द्वारा बनाए गए 35 हवाईअड्डे के नाम पूछे हैं तथा राफेल विमान के दाम क्या हैं, जैसे सवालों के जवाब मांगे हैं. पोस्टर में इन प्रश्नों के सही जवाब देने वालों को पांच करोड़ रुपये इनाम देने की घोषणा भी की गई है.

कांग्रेस नेताओं -सिद्घार्थ क्षत्रिय और व्यंकटेश रमन- के नाम से पटना शहर के आयकर चौराहे सहित कई स्थानों पर लगे इन पोस्टरों से हालांकि कांग्रेस पल्ला झाड़ रही है. कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष मदन मोहन झा ने कहा कि कांग्रेस पोस्टरबाजी के माध्यम से किसी प्रकार के संघर्ष या आलोचना नहीं करती है. बहरहाल, इस दशहरा के मौके पर बिहार की राजनीति में पोस्टर वार जारी है और लोग दुर्गा मां के दर्शन के अलावा इन पोस्टरों का भी मजा ले रहे हैं.