आलोक नाथ ने आईएफटीडीए के नोटिस को नकारा, संघ उठाएगा सख्त कदम

यौन शोषण के आरोप का सामना कर रहे अभिनेता आलोक नाथ ने भारतीय फिल्म एवं टेलीविजन निर्देशक संघ (आईएफटीडीए) द्वारा उन्हें जारी किए गए नोटिस का जवाब देने से इनकार कर दिया है. आईएफटीडीए ने लेखिका-निर्देशक विनता नंदा द्वारा लगाए गए यौन शोषण के आरोप के संबंध में आलोक नाथ को नोटिस जारी किया था. नंदा ने आलोक पर 19 साल पहले यौन उत्पीड़न करने का आरोप लगाया है. जवाब देने से इनकार करने पर आईएफटीडीए ने अब अभिनेता के खिलाफ सख्त कार्रवाई का फैसला किया है.

आईएफटीडीए ने नंदा की शिकायत के आधार पर 10 अक्टूबर को आलोक को नोटिस जारी किया था.

जवाब में आलोक के वकील अशोक सरगोई ने आईएफटीडीए को बताया कि न तो पुलिस अधिकारियों और न ही किसी कानूनी अधिकारी के समक्ष कोई शिकायत दर्ज कराई गई है और जो नोटिस जारी किया गया है वह सोशल मीडिया पर कुछ शिकायतों और साक्षात्कारों के आधार पर भेजा गया है.

आईएफटीडीए के अध्यक्ष अशोक पंडित ने मंगलवार को आईएएनएस को बताया, “रास्ता तलाशने के लिए हम बैठक बुला रहे हैं..हम हमारे सदस्यों की सुरक्षा के लिए संघ के अधिकार में जो भी होगा, उसका पालन करेंगे.”

उन्होंने कहा, “हां, उन्होंने (विनता ने) पुलिस में शिकायत नहीं की लेकिन उन्होंने हमसे शिकायत की है. इसलिए हमें सख्त रुख अपनाना होगा.”