दिल्ली-एनसीआर की हवा हुई जहरीली, सरकार ने उठाए ये कदम

मौसम के करवट बदलते ही दिल्ली-एनसीआर की हवा जहरीली होने लगी है. वहीं, नासा से मिली उपग्रह तस्वीरों में पंजाब और हरियाणा में बड़े पैमाने पर पराली जलाने की गतिविधियां दिखाई दी हैं. अक्टूबर में ही हवा के प्रदूषित होने से दिल्लीवासियों की परेशानी बढ़ने लगी है. वहीं, सरकार भी इस समस्या से जल्द से जल्द निपटना चाहती है.

इस खतरे को देखते हुए केंद्रीय प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड ने दिल्ली में आपात कार्य योजना लागू कर दी है, जिसमें मशीनों से सड़कों की सफाई और भीड़भाड़ वाले इलाकों में वाहनों के सुचारु रूप से आवागमन के लिए यातायात पुलिस की तैनाती जैसे उपाय शामिल होंगे. वहीं दूसरी तरफ, दिल्ली सरकार ने हरियाणा और पंजाब से मांग की है कि पराली जलाने से रोकने के लिए कदम उठाए जाएं.

राज्यपाल अनिल बैजल द्वारा जारी एडवाइजरी के बाद जानकारी दी गई कि प्रदूषण के मामले में नगर निगम ने 1 जनवरी, 2018 से लेकर अब तक गैर अनुरूप क्षेत्रों में 10196 उद्योगों पर कार्रवाई की है, जबकि डी.पी.सी.सी. ने 1368 उद्योगों को कारण बताओ नोटिस भेजा है और 417 औद्योगिक इकाइयों को बंद करने के निर्देश दिए हैं. प्रदूषण सबसे पहले बच्चों और बुजुर्गों को अपना शिकार बनाता है. ऐसे में, हर मौसम में 5 साल से कम उम्र के बच्चों और 65 साल से अधिक उम्र के बुजुर्गों का खास ध्यान रखना चाहिए. बच्चों को इस तरह की प्रदूषित हवा में कम से कम बाहर निकलना चाहिए.