जम्मू- कश्मीर निकाय चुनाव: जम्मू में मतदाताओं की भारी भीड़, घाटी में स्थिति उलट

जम्मू एवं कश्मीर में 13 साल के लंबे अंतराल के बाद हो रहे नगरपालिका चुनाव में सोमवार को जम्मू, राजौरी, पुंछ में मतदाताओं की लंबी कतारे देखने को मिल रही हैं जबकि घाटी में मतदान केंद्रों पर छिटपुट लोग ही नजर आए। सुबह सात बजे से मतदान शुरू होने के बाद गांधी नगर, आर.एस.पुरा, अरनिया, जुरियां, खौर, अखनूर, बिश्नाह, नौशेरा, सुरंकोट, कलाकोट और अन्य जगहों पर मतदान करने के लिए उत्साहित मतदाताओं की भीड़ उमड़ने लगी.

वहीं, कश्मीर में नजारा बिल्कुल इसके उलट देखने को मिला क्योंकि निकाय चुनाव के पहले चरण का मतदान दो प्रमुख दलों नेशनल कॉन्फ्रेंस और पीपुल्स डेमोक्रेटिक पार्टी द्वारा किए गए बहिष्कार के बीच हुआ है.

एक मतदान अधिकारी ने बताया कि बारामुला नगर परिषद के लिए पहले दो घंटों में कुल 218 वोट पड़े हैं.

अधिकारी ने कहा कि बडगाम में एक नगरपालिका वार्ड में सुबह नौ बजे तक सिर्फ चार वोट पड़े, जबकि बांदीपोरा जिले के एक मतदान केंद्र में आठ वोट डाले गए, जहां दो घंटे में 187 वोट पड़े हैं.

कुपवाड़ा में एक ही समय में 11 वाडरें में 545 वोट पड़े, जबकि हंदवाड़ा, जहां प्रमुख मतदाताओं में से एक विधायक सज्जाद गनी लोन हैं, में 263 वोट पड़े हैं.

दक्षिण कश्मीर के अनंतनाग के कोकरनाग, काजीगुंड, अचबाल और देवसर में भी कम संख्या में मतदाता नजर आए.

लद्दाख क्षेत्र के लेह और कारगिल के बारे में खबरों में कहा गया कि ठंड के कारण मतदाता घरों से कम निकले हैं. हालांकि, अपराह्न तक मतदाताओं की संख्या बढ़ने की उम्मीद है. मतदान शाम चार बजे समाप्त होगा.

चुनाव राज्य के 1,145 नगर पालिका वाडरे में से 422 के लिए कड़ी सुरक्षा के बीच हो रहे हैं.

चार चरणों में होने वाले नगरपालिका चुनाव के लिए 1,204 उम्मीदवार मैदान में हैं, जो 16 अक्टूबर को संपन्न होगा. मतगणना 20 अक्टूबर को होगी.