दून के इंजीनियरिंग का छात्र आतंकी संगठन हिजबुल में शामिल

दून के इंजीनियरिंग का छात्र आतंकी संगठन हिजबुल में शामिल हो गया. मिली जानकारी के अनुसार छात्र शोएब अहमद लोन दून से दोस्त की शादी में शामिल होने की बात कहकर निकला. लेकिन वह न तो घर गया और न ही दोस्त की शादी में शरीक हुआ.

सका पता परिजनों को उस वक्त लगा जब शोएब की फोटो उसके करीबियों ने हिजबुल मुजाहिद्दीन के फेसबुक पेज पर देखी. शोएब की मां को पता लगा तो वह डर गई और अब बेटे से लौटने की गुहार लगा रही है. जानकारी के अनुसार, शोएब सर्टिफाइड एथिकल हैकर है. ऑनलाइन हैकिंग में हिजबुल संगठन की बड़ी मदद कर सकता है.

जम्मू-कश्मरी के श्रीनगर से करीब 65 किमी दूर बुमराट निवासी शोएब अहमद के पिता की मौत बचपन  में हो गई थी. शोएब और उसकी बड़ी बहन की देखभाल मां मुनारी कर रही थी. वह सेब का कारोबार करती है. 12वीं तक पढ़ाई में अच्छे अंक पाकर शोएब ने परिजनों से इंजीनियर बनने की इच्छा जताई.

इसके बाद उसे इंजीनियरिंग के लिए दून भेज दिया गया. मगर, परिजनों को जरा भी विश्वास नहीं था कि दून जाकर भी वह आतंकी संगठनों के संपर्क में आ जाएगा. मां उम्मीद करती थी कि वह जल्द इंजीनियर बन घर को संभालेगा. मगर, बेटे के आतंकी संगठन में जाने का पता लगते ही पूरा परिवार सदमे में है. शोएब की मां ने बेटे की फोटो हिजबुल के फेसबुक पेज पर देखी तो कई बार बेटे से संपर्क की कोशिश की. संपर्क नहीं होने पर उन्हें बेटे के आतंकी संगठन में चले जाने का अहसास हुआ.