जस्टिस रंजन गोगोई ने भारत के 46वें प्रधान न्यायधीश के रूप में शपथ ली

रंजन गोगोई बने देश के मुख्य न्यायाधीश राष्ट्रपति भवन में बुधवार को आयोजित शपथ ग्रहण समारोह में राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने जस्टिस रंजन गोगोई को देश के मुख्य न्यायाधीश पद की शपथ दिलाई. शपथ ग्रहण कार्यक्रम में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, सुप्रीम कोर्ट के जज, पूर्व चीफ जस्टिस दीपक मिश्रा अन्य केंद्रीय मंत्री मौजूद रहे.

मुख्य न्यायाधीश दीपक मिश्रा दो अक्‍टूबर को सेवानिवृत्त हो गए थे. और उनके उत्‍तराधिकारी के तौर पर सुप्रीम कोर्ट के सबसे वरिष्‍ठ जज जस्टिस रंजन गोगोई को तीन अक्‍टूबर को नए मुख्‍य न्‍यायाधीश का पदभार संभालने की जिम्मेदारी मिली. जस्टिस गोगोई इस पद पर पहुंचने वाले पूर्वोत्‍तर भारत के पहले मुख्‍य न्‍यायधीश बने. जस्टिस गोगोई देश के 46वें मुख्य न्‍यायाधीश बने और 17 नवंबर 2019 तक उनका कार्यकाल रहेगा.

जस्टिस रंजन गोगोई के सामने अयोध्‍या मामले का निपटाना करना उनके लिए एक बड़ी चुनौती होगी. इसके अलावा लंबित मामलों का निपटारा भी जस्टिस गोगोई के लिए बड़ी चुनौती होगी.