टेरर फंडिंग मामला : एनआईए ने श्रीनगर के व्यापारी के आवास पर की छापे मारी

राष्ट्रीय जांच एजेंसी (एनआईए) की एक टीम ने मंगलवार को आतंक वित्तपोषण मामले में श्रीनगर के एक व्यापारी के आवास पर छापा मारा. एक एनआईए अधिकारी ने दिल्ली में मीडिया से कहा, “केंद्रीय आतंक-रोधी एजेंसी ने पाकिस्तान स्थित फलाह-ए-इंसानियत फाउंडेशन (एफआईएफ) द्वार हवाला आतंक वित्तपोषण मामले में अपनी मौजूदा जांच के संबंध में एजाज अहमद हकाक के आवास व कार्यालयों पर छापे मारे.”

एफआईएफ का संबंध पाकिस्तान स्थित आतंकी संगठन लश्कर ए तैयबा से माना जाता है. इसकी स्थापना 1990 में हाफिज मोहम्मद सईद ने की थी. सईद 2008 मुंबई आतंकी हमले का मास्टरमाइंड माना जाता है.

यह छापे श्रीनगर के पुराने क्षेत्र नौहट्टा में हकाक के घर पर मारे गए. यहां से क्या जब्त किया गया है, इस बारे में कोई सूचना नहीं मिली है.

एनआईए ने यह कार्रवाई एफआईएफ से जुड़े हवाला नेटवर्क का पर्दाफाश करने के एक सप्ताह बाद की है. एजेंसी ने इस संबंध में दिल्ली से तीन लोगों को गिरफ्तार किया था जिसमें कश्मीर का एक हवाला कुरियर भी शामिल है.

एजेंसी ने गिरफ्तार किए लोगों से एक करोड़ रुपये नगद और 43,000 रुपये की नेपाली मुद्रा और कई दस्तावेज बरामद किए थे.

एनआईए के अनुसार, विदेशों में एफआईएफ सदस्यों से दिल्ली में कई लोगों ने राशि प्राप्त की और इस राशि का उपयोग आतंकी गतिविधि के लिए किया गया.

एनआईए ने मोहम्मद सलमान (52), मोहम्मद सलीम (62), श्रीनगर के सज्जाद अब्दुल वानी (34) को गिरफ्तार किया है.