नाना का कोई कानूनी नोटिस नहीं मिला : तनुश्री दत्ता

नाना पाटेकर पर यौन उत्पीड़न का आरोप लगाने के बाद उनकी तरफ से कानूनी नोटिस भेजे जाने की धमकी के बीच तनुश्री दत्ता ने कहा है कि ही उन्हें अभिनेता के वकील की तरफ से कोई कानूनी नोटिस मिला है और ना ही वह उनसे डरी हुई हैं.

तनुश्री ने बयान दिया, “मेरे पास मेरे हितों की रक्षा के लिए वकीलों की एक टीम है. नाना के वकील के दावे के विपरीत, मुझे अभी तक कोई कानूनी नोटिस नहीं मिला है. इसलिए ‘ब्लफमास्टर’ गोगो को यहां से अपने खेल को आगे बढ़ाने की जरूरत है.”

इस सप्ताह की शुरुआत में तनुश्री ने मीडिया के सामने आकर पाटेकर पर उन्हें वर्ष 2008 में ‘हॉर्न ओके प्लीज’ के सेट पर उत्पीड़ित करने का आरोप लगाया था. मीडिया को दिए साक्षात्कार में उन्होंने सेट पर नाना के ‘दुव्यर्वहार’ के बारे में फिर से बताया था.

उन्होंने कहा था, “उन्होंने मनसे (महाराष्ट्र नवनिर्माण सेना) के कार्यकर्ताओं को मेरी कार को क्षतिग्रस्त करने के लिए बुलाया था. वह हरकुछ के पीछे थे और उनका समर्थन कोरियोग्राफर गणेश आचार्य कर रहे थे.”

इन आरोपों के बाद, पाटेकर के वकील ने कहा था कि वह उनको कानूनी नोटिस भेजेंगे. तनुश्री ने कहा कि कोई भी उन्हें सच्चाई बोलने से रोक नहीं सकता और ‘कानूनी नोटिस की धमकी’ उन्हें डिगा नहीं सकती.

उन्होंने कहा, “मौजूदा परिदृश्य दिखाता है कि कैसे जब एक पीड़िता बोलती है तो नैतिक रूप से भ्रष्ट वकील थोड़ा नाम कमाने के लिए लगातार उत्पीड़न करने वाले और अपराधियों के बचाव में सामने आ जाते हैं. गवाह सामने आ जाने और सभी सबूत मेरे पक्ष में होने के बावजूद, मुझे नाना के सहयोगी द्वारा धमकी दी जा रही है.”

तनुश्री ने कहा, “यह हमारे देश के अनगिनत लाखों लोगों की कहानी है, जो न्याय का अभी भी इंतजार कर रहे हैं, क्योंकि उन्हें कई कानूनी पेचों में घसीटा जाता है.” तनुश्री ने भारतीय न्याय प्रणाली से आग्रह किया कि नाना और उसके वकील को हिरासत में ले और पूछताछ करें.

उन्होंने एक बयान में कहा, “वकील और उसके मुव्विकल दोनों से पूछताछ की जानी चाहिए. मैं बार एसोसिएशन ऑफ इंडिया से विनम्र आग्रह करती हूं कि उनके खिलाफ कार्रवाई करे और ऐसे तमाम लोगों के खिलाफ कार्रवाई करे जो कानून के नाम पर ऐसे लोगों की मदद करते हैं.”