महंगा हुआ ताजमहल का दीदार करना, 5 गुना तक बढ़ा किराया

दुनिया के 7 अजूबों में शामिल ‘ताजमहल’को मुगल बादशाह शाहजहां ने अपनी बेगम मुमताजमहल की याद में बनवाया था. शायद इसी कारण इसे आज भी पूरी दुनिया में प्रेमी जोड़ों के द्वारा प्यार की अदभुत मिसाल के तौर पर देखा जाता है और नवविवाहित जोड़े इसे देखने जरुर जाते हैं. जानकारी मुताबिक अब ताजमहल का दीदार करना आने वाले दिनों में महंगा हो सकता है.

भारत के पुरातत्व सर्वेक्षण विभाग (ASI) ने किराए में बढ़ोतरी की सिफारिश की है. इस खातिर उसने प्रस्ताव भी तैयार किया है. एएसआई ने ताजमहल के मुख्य गुंबद तक जाने के लिए लगने वाले किराए में बढ़ोतरी का प्रस्ताव रखा है. एएसआई के इस प्रस्ताव के बाद विदेशी पर्यटकों के लिए किराए में 200 रुपए की बढ़ोतरी हो सकती है. वहीं, घरेलू पर्यटकों के लिए यह 5 गुना तक बढ़ सकता है. इस प्रस्ताव के मुताबिक विदेशी यात्रि यों को मौजूदा किराए के ऊपर 200 रुपए ज्यादा देना होगा. वहीं, घरेलू यात्रिमयों के लिए यह एक बड़ा झटका साबित होगा. क्योंकि उन्हें 5 गुना ज्यादा पैसे खर्च करने पड़ेंगे. घरेलू पयर्टकों को 50 रुपए की जगह 250 रुपए देने होंगे.

एएसआई का तर्क है कि किराए में ये बढ़ोतरी ताजमहल में बढ़ती भीड़ को नियंत्रिरत करने की खातिर लाया गया है. इन नई दरों के बाद ताजमहल देश का सबसे महंगा स्मारक बन जाएगा. टिकट की कीमतों में बढ़ोतरी के बाद भी यहां पर यात्रि यों को मिलने वाली सुविधाओं में किसी भी तरह का इजाफा नहीं किया जा रहा है. यहां आपको कुत्ते और बंदर खुलेआम स्मारक परिसर में घूमते नजर आ जाते हैं.
कुत्तों और बंदरों का घूमना इसलिए भी चिंताजनक हो जाता है क्योंकि यहां पर इनके हमले करने के कई मामले सामने आ चुके हैं. पर्यटकों की तरफ से कई शिकायतें किए जाने के बाद भी एएसआई इसके लिए बेहतर इंतजाम करने में नाकामयाब रहा है.