सेना के जवान सीमा पार से होने वाली हर हरकत का मुहतोड़ जवाब देने के लिए आजाद : राजनाथ

पाकिस्तान की हद मे 3 किलोमीटर तक अंदर जाकर जवानो ने पाकिस्तान की धरती पर भारतीय सेना ने योजनाबद्ध तरीके से 28-29 सितबर 2016 की आधी रात पाकिस्तान की सीमा मे घुसकर वहा आतकियो और उनके ठिकानो को तहस-नहस कर दिया था. उरी मे आतकी हमले के दस दिनो के अंदर ही दो साल पहले भारतीय सेना ने सर्जिकल स्ट्राइक की थी. पाकिस्तानियो को सबक सिखाने वाला सबसे बड़ा ऑपरेशन किया था. व कई आतकियो को मौत के घाट उतार दिया था.

केद्रीय गृहमत्री राजनाथ सिह ने इस मौके पर बताया कि सेना के जवान सीमा पार से होने वाली हर हरकत का मुहतोड़ जवाब देने के लिए आजाद है. उन्होने सकेत दिए है कि भारत मे बीएसएफ जवान के साथ हुई क्रूरता का बदला दो दिन पहले ले लिया है.

सर्जिकल स्ट्राइक के बावजूद पाकिस्तान अपनी करतूत से बाज नही आ रहा है. उन्होने हाल ही एक घटना का जिक्र करते हुए बताया. ‘हमारे बीएसएफ जवान के साथ बदतमीजी हुई थी. जवाब मे मैने बीएसएफ के जवानो को कहा है कि पड़ोसी है. पहली गोली मत चलना. लेकिन उधर से एक गोली चले तो फिर अपनी गोली मत गिनना.’