20वीं सालगिरह: गूगल इस तरह बना दुनिया का सबसे बड़ा सर्च इंजन, जानें कैसे

सितंबर 1998 में गूगल को पहली बार सर्च इंजन के तौर पर ल़ॉन्च किया गया था. आज सर्च इंजन गूगल की 20वीं सालगिरह है. गूगल दुनिया के सबसे लोकप्रिय सर्च इंजन के तौर पर जाना जाता है. पूरी दुनिया में गूगल सिर्फ सर्च इंजन के तौर पर ही नहीं बल्कि एक बेहतर तकनीकि कंपनी के तौर पर भी जाने लगा है. सर्च इंजन के तौर पर शुरू हुई कंपनी गूगल ने अब ऑपरेटिंग सिस्टम से लेकर मोबाइल डिवाइस तक बनाने लगी है. गूगल ने अपनी 20वीं सालगिरह पर डूडल भी बनाया है. जिसमें पिछले दो दशक में इस सर्च इंजन पर किए गए लोकप्रिय सर्च को दिखाया गया है.

लैरी पेज और सर्गे ब्रिन ने गूगल को 20 साल पहले शुरू किया था. आज गूगल 190 देशों में इस्तेमाल किया जाता है. तथा 150 भाषाओं को सपोर्ट करता है. एक मिशन के तौर पर इस सर्च इंजन को डेवलप किया था. जिसमें दुनियाभर कि जानकारियां शामिल की गई थी.

गूगल ने बताया हर रोज हमे लगभग 15 बिलियन सर्च क्वेरीज मिलती है. जिनमें से 15 फीसद क्वेरीज एकदम यूनिक होती है. जिसे पहले कभी सर्च नहीं किया गया है. हम इस चीज को ध्यान में रखकर यूजर्स के हर क्वेरीज के बारे में जानकारियां देने की कोशिश करते है. इसके लिए हमारा एल्गोरिथम काफी प्रभावी रूप से काम करता है. इस प्रभावी एल्गोरिथम से न सिर्फ पहले हम क्वेरीज सॉल्व करने में सफल हूए है. बल्कि आगे भी हम यूजर्स की क्वेरीज को सॉल्व करके जानकारियां देते रहेंगे.

जिस समय 1998 में गूगल की शुरुआत हुई थी. उस समय पूरे वर्ल्ड वाइड वेब (www) पर करीब 25 मिलियन (2.5 करोड़) पेज मौजूद थे. गूगल का एल्गोरिथम इतना शानदार था कि आप कुछ भी सर्च करते तो आपको इन 25 मिलियन पेज में से जानकारी मिल जाती थी. आज. गूगल आर्टिफिशिय इंटेलिजेंस (AI) का इस्तेमाल करने लगा है. गूगल पर आप कुछ बोलकर भी सर्च कर सकते है. इसके लिए गूगल ने अपना वॉयस असिस्टेंस स्मार्टफोन्स के साथ ही डेस्कटॉप या लैपटाप यूजर्स के लिए तैयार किया है. आप अपने लैपटॉप पर भी माइक्रोफोन की मदद से गूगल में कुछ बोलकर सर्च कर सकते है. जिस समय गूगल की शुरुआत हुई थी उस समय या Yahoo और AOL को लोग सर्च इंजन के तौर पर जानते थे. लेकिन आज गूगल  Yahoo. Bing. AOL आदि अन्य सर्च इंजन से काफी आगे निकल चुका है.