नोबेल शांति पुरस्कार के लिए पीएम मोदी हुए नॉमिनेट

पीएम मोदी का नाम नोबेल पुरस्कार के लिए नॉमिनेट किया  हैं. यह नॉमिनेशन तमिलनाडु में बीजेपी की प्रदेश अध्यक्ष डॉ. तमिलीसाई सुंदरराजन ने किया है. उनका कहना है कि दुनिया की सबसे बड़ी स्वास्थ्य योजना शुरू करने के लिए उन्होंने पीएम मोदी को नोबल शांति पुरस्कार के लिए ‘नामित’ किया है.

राज्य भाजपा प्रमुख के कार्यालय की तरफ से जारी प्रेस विज्ञप्ति में बताया गया कि उनके पति प्रोफेसर पी सुंदरराजन ने भी मोदी को नोबल के लिए नामित किया है. उनके पति एक निजी विश्वविद्यालय में नेफ्रोलॉजी विभाग के प्रमुख हैं. विज्ञप्ति में कहा गया कि दुनिया की सबसे बड़ी स्वास्थ्य योजना प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना–आयुष्मान भारत की शुरुआत करने के लिए डॉ. तमिलीसाई सुंदरराजन ने प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी को नोबल शांति पुरस्कार 2019 के लिए नामित किया है.

विज्ञप्ति में कहा गया है कि पीएम द्वारा रविवार को शुरू की गई यह अभूतपूर्व योजना लाखों लोगों को लाभान्वित करेगी. इस योजना से देश की अधिकांश जनता को लाभ मिलेगा और यह मील का पत्थर साबित होगी. इस योजना से खासतौर पर गरीब और वंचित तबके के लोगों को लाभ होगा. नोबल पुरस्काइर के लिए दुनिया भर में प्रविष्ठियां आती हैं. इसमें विश्वलविद्यालयों के प्रोफेसर, वकील, कानून निर्माता, पूर्व में नामित हो चुके लोग तथा पुरस्काार प्राप्त कर चुके लोग भी शामिल होते हैं.

यहां तक कि समिति में शामिल लोग भी अपना नाम पुरस्कारर के लिए दे सकते हैं. अबतक भारत में मदर टेरेसा और कैलाश सत्यार्थी को शांति के लिए नोबेल पुरस्कार मिले हैं. इसके अलावा साहित्य के क्षेत्र में रविंद्र नाथ टैगोर, भौतिकी के क्षेत्र में डॉक्टर सीवी रमन, अर्थशास्त्र में अमर्त्य सेन को भी नोबेल पुरस्कार मिल चुका है.