महाराष्ट्र में गणेश विसर्जन के दौरान 18 डूबे

गणेशोत्सव के बाद लगभग 30 घंटे तक चला प्रतिमा विसर्जन सोमवार अपराह्न् समाप्त हो गया और इस दौरान पूरे राज्य में 18 लोगों की पानी में डूबकर मौत हो गई.

अधिकारियों ने कहा कि रविवार अनंत चतुर्दशी यानी 11 दिवसीय महोत्सव का अंतिम दिन था.गणेशोत्सव 13 सितंबर को शुरू हुआ था.

हजारों की संख्या में गणेश प्रतिमाओं को विसर्जित करने के लिए लोग सड़कों पर नाचते-गाते निकले.प्रतिमाओं को अरब सागर, नदियों, तालाबों, झीलों, कुंओं और अन्य जल संरचनाओं में विसर्जित किया गया.

पिछले 24 घंटे के दौरान एक व्यक्ति पूर्वी मुंबई के भांडुप में डूब गया, जबकि चार लोग पुणे, तीन-तीन लोग रत्नागिरि और जालना, दो-दो लोग भंडारा और सतारा तथा एक-एक व्यक्ति नांदेड़, बुलढाना और अहमदनगर में डूब गए.

गिरगांव चौपाटी पर प्रतिमा विसर्जन के दौरान सोमवार सुबह एक नौका पलट गई और उस पर सवार लोग समुद्र में गिर गए.इस दुर्घटना में कम से कम पांच लोगों को बचा लिया गया, जिसमें तीन लड़कियां शामिल हैं.

एक अन्य घटना में उपनगर कांदिवली में प्रतिमा विसर्जन के दौरान एक विशाल प्रतिमा गिर पड़ी, जिसके कारण 17 लोग घायल हो गए.घायलों की स्थिति स्थिर बताई गई है.

बीएमसी के एक अधिकारी ने कहा कि सोमवार को 849 विशाल प्रतिमाएं और लगभग 33,700 घरेलू छोटी प्रतिमाएं सोमवार को विसर्जित की गईं.