एशिया कप : चोटों से परेशान टीम इंडिया के सामने बांग्लादेश की चुनौती

दुबई|…. एशिया कप-2018 के अपने दोनों ग्रुप मैच जीतकर कर अगले दौर में पहुंची टीम इंडिया टीम के सामने बांग्लादेश के रूप में अब एक ऐसी टीम है जो किसी भी समय किसी भी टीम को मात देने का माद्दा रखती है. दोनों टीमें शुक्रवार को दुबई अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट स्टेडियम में सुपर-4 के मुकाबले में आमने-सामने होंगी.

टीम इंडिया ने अपने पहले मैच में हांगकांग को मात दी थी तो वहीं अगले मैच में पाकिस्तान को हराया था. बांग्लादेश ने इस टूर्नामेंट के अपने पहले मैच में श्रीलंका को मात दी थी. वह शानदार फॉर्म में है और यहां की परिस्थतियों में यह टीम बेहद खतरनाक साबित हो सकती है.

वहीं, टीम इंडिया को पहले मैच में जीत हासिल करने में संघर्ष करना पड़ा था, लेकिन दूसरे मैच में उसने पाकिस्तान को एकतरफा शिकस्त दी. टीम इंडिया को इस मैच से पहले चोटिल खिलाड़ियों से परेशानी हुई है. पाकिस्तान के मैच से दौरान हरफनमौला खिलाड़ी हार्दिक पांड्या को चोट लग गई थी और इसी कारण वह टूर्नामेंट से बाहर हो गए हैं.

उनके अलावा शार्दूल ठाकुर और अक्षर पटेल को भी चोटों के कारण बीच में स्वदेश लौटना पड़ा है.

इन तीनों के स्थान पर दीपक चहर, रवींद्र जडेजा और सिद्धार्थ कौल को टीम में शामिल किया गया है. यह तीनों गुरुवार रात दुबई के लिए रवाना हो चुके हैं. टीम प्रबंधन हार्दिक के विकल्प के तौर पर किसे टीम में शामिल करता है यह मैच के दिन ही पता चलेगा.

दीपक, पांड्या के स्थान पर अंतिम-11 में जगह बना सकते हैं. टीम में और कोई बदलाव की संभावनाएं नहीं है. रोहित शर्मा और शिखर धवन की सालमी जोड़ी ने पाकिस्तान के मैच में टीम को सधी हुई शुरुआत दी थी. वहीं अंबाती रायडू ने तीसरे नंबर पर अच्छी बल्लेबाजी की थी. दिनेश कार्तिक भी 31 रनों का योगदान देने में सफल रहे थे.

इन चारों के अलावा हालांकि कोई किसी बल्लेबाज को मौका नहीं मिला था, लेकिन टीम इंडिया के पास केदार जाधव और महेंद्र सिंह धोनी जैसे बल्लेबाज हैं. यह दोनों अंत में बड़े शॉट्स खेलने का दम रखते हैं.

टीम इंडिया के लिए बांग्लादेशी गेंदबाजों खासकर स्पिन का सामना करना आसान नहीं होगा. मेहेदी हसन और शाकिब अल हसन के रूप में उसके पास दो ऐसे गेंदबाज हैं जो टीम इंडिया ीय खेमे को परेशानी में डाल सकते हैं. इन दोनों के अलावा तेज गेंदबाज और कप्तान मशरफे मुर्तजा तथा मुस्ताफिजुर रहमान शुरुआती ओवरों में टीम इंडिया के लिए मुश्किले खड़ी कर सकते हैं.

वहीं बांग्लादेश की बल्लेबाजी की मजबूत कड़ी तमीम इकबाल पहले मैच में ही चोट के कारण टूर्नामेंट से बाहर हो गए हैं. उनका न होना टीम इंडिया के लिए बड़ी राहत है. तमीम उन बल्लेबाजों में से हैं जो हमेशा टीम इंडिया के खिलाफ रन करते हैं.

उनके न रहने से बल्लेबाजी का भार विकेटकीपर मुश्फीकुर रहीम पर आ जाएगा जिन्होंने पहले मैच में श्रीलंका के खिलाफ 144 रनों की शतकीय पारी खेली थी. वहीं लिटन दास और शाकिब पर भी ऊपरी क्रम की जिम्मेदारी होगी.

मध्यक्रम का भार महामुदुल्लाह के कंधों पर होगा जबकि कप्तान मुर्तजा निचले क्रम पर ध्यान केंद्रित करेंगे.

इन सभी बल्लेबाजों के लिए टीम इंडिया के भुवनेश्वर कुमार और जसप्रीत बुमराह का सामना करना आसान नहीं होगा. यह दोनों सीमित ओवरों में मौजूदा दौर में सर्वश्रेष्ठ गेंदबाजों में गिने जाते हैं. सटीक लाइन लैंथ और डेथ ओवरों में कसी हुई गेंदबाजी करने की क्षमता बांग्लादेश को मुसीबत में डाल सकती है.

शुरुआती ओवरों में अगर बांग्लादेश के बल्लेबाज इन दोनों के बच गए तो युजवेंद्र चहल और कुलदीप यादव की जोड़ी से पारा पाना भी बांग्लादेश के लिए आसान नहीं होगा.

पार्ट टाइम गेंदबाज केदार जाधव का अगर रोहित इस्तेमाल करते हैं तो वह भी दुबई की धीमी पिचों पर कमाल दिखा सकते हैं जो वह पाकिस्तान के खिलाफ तीन विकेट लेकर कर चुके हैं.

टीमें :

टीम इंडिया : रोहित शर्मा (कप्तान), शिखर धवन (उपकप्तान), लोकेश राहुल, अंबाती रायडू, मनीष पांडे, केदार जाधव, महेंद्र सिंह धोनी, दिनेश कार्तिक, दीपक चहर, कुलदीप यादव, युजवेंद्र चहल, रवींद्र जडेजा, भुवनेश्वर कुमार, जसप्रीत बुमराह, सिद्धार्थ कौल और खलील अहमद.

बांग्लादेश : मशरफे मुर्तजा (कप्तान), लिटन दास, शाकिब अल हसन, मुश्फिकुर रहीम, महमुदुल्लाह, मोहम्मद मिथुन, मोसादिक हुसैन, मेहदी हसन, रूबैल हुसैन, मुस्ताफिजुर रहमान, अबु हैदर, आरिफ हक, मोमिनुल हक, नजमुल हुसैन शंटो, नजमुल इस्माल.