जम्मू-कश्मीर : सोशल मीडिया पर 3 पुलिसकर्मियों ने इस्तीफे की घोषणा की, गृह मंत्री ने किया खंडन

जम्मू एवं कश्मीर के शोपियां में आतंकवादियों द्वारा अपने तीन सहयोगियों का अपहरण और हत्या कर दिए जाने से गुस्साए तीन पुलिसकर्मियों ने सोशल मीडिया पर शुक्रवार को अपने इस्तीफे की घोषणा की. इस्तीफा देने वाले तीनों पुलिसकर्मियों में एक कांस्टेबल और दो विशेष पुलिस अधिकारी (एसपीओ) शामिल हैं.

आतंकवादियों के भय से पुलिसकर्मियों की इस्तीफा देने वाले खबर का गृह मंत्री राजनाथ सिंह ने खंडन किया है. उन्होंने कहा कि यहां 30 हजार से अधिक एसपीओ तैनात हैं. जिनके समय-समय पर काम की समीक्षा की जाती है. कुछ ऐसे अराजक तत्व हैं जिन्होंने इस्तीफे की झूठी खबर फैला रहे हैं. जिन लोगों का कार्यकाल प्रशासनिक कारणों से नहीं बढ़ाया गया उन्होंने इस्तीफा दे दिया है.

आतंकवादी लगातार पुलिसकर्मियों को, खासकर विशेष पुलिस अधिकारियों (एसपीओ) को नौकरी छोड़ने के लिए कहते रहे हैं और ऐसा न करने पर परिणाम भुगतने की धमकी देते रहे हैं.

एक हालिया बयान में हिजबुल मुजाहिदीन ने तमाम एसपीओ से इस्तीफा देने और सबूत के तौर पर इस्तीफे की प्रति घर पर रखने के लिए कहा था. जम्मू एवं कश्मीर के 22 जिलों में 36,000 एसपीओ हैं.