भारत का पहला देसी GPS सिस्टम हुआ लॉन्च….

पिछले वर्ष से ही देसी GPS मॉड्यूल को लेकर कई तरह की ख़बरें सामने आ रही थीं और कहा जा रहा था कि जल्द भारत के पास अपना जीपीएस मॉड्यूल होगा. आखिरकार अब भारत का यह सपना सच हो गया है. नई दिल्ली में आयोजित एक इवेंट के दौरान ST माइक्रोइलेक्ट्रॉनिक्स और मोबाइलटेक ने UTraQ नाम का जीपीएस मॉड्यूल लॉन्च कर दिया है जो लोकेशन को ट्रैक करने में मदद करेगा.

इसे भारत के रीजनल नैविगेशन सैटेलाइट सिस्टम (IRNSS) पर आधारित तैयार किया गया है. आपको बता दें कि अब तक डिवाइसिस में दी जाने वाली जीपीएस एप्पलिकेशन्स अमरीकी सैटलाइट्स द्वारा दी जा रही फीड पर आधारित थीं, लेकिन UTraQ भारत के खुद के सैटलाइट सिस्टम पर आधारित है, जो लोकेशन को लेकर और भी सही व भरोसेमंद डाटा देगा. UTraQ को इसरो कंट्रोल करेगा और इसके ज़रिए अब देश को सटीक जानकारी मिलेगी. इस इवेंट के दौरान दो जीपीएस मॉड्यूल्स को लॉन्च किया गया है.

इनमें से L110 GNSS मॉड्यूल को एक कॉम्पैक्ट NavIC मॉड्यूल कहा गया है जबकि दूसरे L100 GNSS मॉड्यूल को एक छोटे साइज़ का POT (पैच ऑन टॉप) IRNSS मॉड्यूल कहा गया है.इन मॉड्यूल्स को ट्रैकिंग के अलावा रेंज का पता लगाने, कमांड देने, कंट्रोल करने और समय बताने जैसे अन्य कार्यों के लिए भी उपयोग किया जा सकता है. यानी इन मॉड्यूल्स को समुद्री नौवहन, वायुसेना, नौसेना, आंतरिक सुरक्षा, सीमाओं की निगरानी व वाहनों को ट्रैक करने जैसी कई स्थितियों में इस्तेमाल में लाया जा सकता है.

वर्ष 1999 में हुए करगिल युद्ध के दौरान पाकिस्तान की फौज ने करगिल के कुछ हिस्सों पर अपना कब्जा जमा लिया था. ऐसे में पूरी स्थिति का जीपीएस के जरिए जायजा लेने के लिए भारत ने अमरीका से मदद मागी थी, लेकिन उस समय अमरीका ने मना कर दिया था.