क्रू मेंबर्स की एक गलती की वजह से यात्रियों के नाक-कान से निकला खून

गुरुवार को मुंबई से जयपुर जा रहे जेट एयरवेज की फ्लाइट में यात्रियों की जान पर उस समय बन आई, जब 30 यात्रियों कान और नाक से खून निकलने लगा.  इसके बाद फ्लाइट को वापस मुंबई ले जाया गया.

बता दें कि ये सब क्रू मेंबर्स की एक गलती की वजह से हुआ. दरअसल ऊचाई पर पहुंचने के बाद क्रू मेंबर्स केबिन में एयर प्रेशर कम करना भूल गए, जिसकी वजह से लोगों को यह शिकायत हुई. जेट एयरवेज की फ्लाइट में लगभग 166 यात्री सवार थे.

सभी का इलाज मुंबई के एयरपोर्ट पर चल रहा है. बाद में यात्रियों को दूसरी फ्लाइट से रवाना किया गया.  जेट एयरवेज के इस विमान में 166 यात्री सवार थे. विमान कंपनी ने बताया कि सभी यात्री सुरक्षित है. मामले की जांच के आदेश दे दिए गए है.

रिपोट्स के मुताबिक जेट एयरवेज का B737 की 9W 697 फ्लाइट मुंबई से जयपुर के लिए रवाना हो रही थी. इसी बीच केबिन क्रू मेम्बर प्रेशर मेन्टेन करने वाला स्विच को दबाना भूल गए. जिससे ऑक्सीजन ठीक से मेंटेन नहीं हो पाया. हादसे के बाद ‘डीजीसीए’ ने क्रू-मेंबर्स को रोस्टर से हटा दिया है. साथ ही दो पायलटों को भी हटा दिया गया है. मामले की जांच का आदेश दिया गया है. एयरक्राफ्ट ऐक्सिडेंट इन्वेस्टिगेशन ब्यूरो ने मामले की जांच शुरू कर दी है.