वालमार्ट को टक्कर देने के लिए अमेजन खुदरा व्यापार में उतरा

देश की प्रमुख ऑनलाइन रिटेल कंपनी वालमार्ट फ्लिपकार्ट व पेटीएम जैसी कंपनियों को टक्कर देने के लिए अमेजन खुदरा व्यापार में भी उतर गई. ऐसा पहली बार हुआ है कि विश्व की प्रसिद्ध ऑनलाइन कंपनी देश के प्रमुख शहरों में राशन व खाने-पीने का सामान बेचेगी. सूत्रों के मुताबिक पूरी डील 4200 करोड़ रुपये में पूरी हुई है.

अमेजन ने देश की चौथी सबसे बड़ी (आदित्य बिड़ला रिटेल) में 49 फीसदी हिस्सेदारी खरीद ली है. 51 फीसदी हिस्सेदारी सामारा कैपिटल नाम की कंपनी ने खरीदी है. इसके अलावा कंपनी ने फ्लिपकार्ट में भी 76 फीसदी हिस्सेदारी खरीद ली है. अब इस डील पर भारतीय प्रतिस्पर्धा आयोग (सीसीआई) की मुहर लगनी बाकी है. देश में जो प्रमुख सुपरमार्केट चेन है. उनमें बिग बाजार, रिलायंस रिटेल और डी मार्ट है. मोर के पूरे देश में फिलहाल 575 छोटे और बड़े स्टोर है. आदित्य बिड़ला के रिटेल स्टोर दक्षिण, उत्तर और पश्चिमी भारत में स्थित है.

अमेजन को सबसे बड़ी टक्कर इस सेगमेंट में वॉलमार्ट, रिलायंस रिटेल और अलीबाबा से मिलने वाली है. वॉलमार्ट के पूरे देश में पहले से ही कैश एंड कैरी स्टोर मौजूद है. वहीं चीन की कंपनी अलीबाबा ने पेटीएम और बिग बॉस्केट में बहुत बड़ा निवेश कर रखा है. अलीबाबा फिलहाल रिलायंस और टाटा से अपनी इस सेगमेंट में साझेदारी करने के लिए बातचीत कर रही है.

अमेजन इस निवेश के जरिए अपने मुनाफे को बढ़ाना चाहती है. इसके साथ ही वो अपने ग्रोसरी बिजनेस को भी बढ़ाना चाहती है. जिसके लिए अभी विदेशी कंपनियां सीधे तौर पर फूड रिटेल बिजनेस में निवेश नहीं कर सकती है. कंपनी को अपना ग्रोसरी बिजनेस बढ़ाने के लिए केवल भारत में तैयार खाद्य उत्पादों को बेचने की अनुमति होगी.