उत्तराखंड के सीएम रावत का एनआरसी- रोहिंग्या मुसलमान पर बयान, ‘एक-एक को छांट-छांटकर बाहर कर देंगे’

असम में नैशनल रजिस्टर ऑफ सिटिजन (एनआरसी) और रोहिंग्या मुसलमान की अंतिम सूची पर विवाद अभी तक गहराया हुआ है. इसी बीच उत्तराखंड के सीएम त्रिवेंद्र सिंह रावत भी इस मामले में कुद पड़े है और एक विवादित बयान दिया है. उन्होंने कहा कि उत्तराखंड की जनता कही किसी संदिग्ध व्यक्ति को देखे तो तुरंत सरकार को सूचित करे, वह एक-एक को छांट-छांटकर बाहर कर देंगे.

सीएम ने आगे कहा, किसी घुसपैठिए को, चाहे बांग्लादेशी हो या रोहिंग्या, एक-एक को छांट-छांट कर सीमा से बाहर किया जाएगा.यही नहीं उन्होंने आगे कहा, ‘मैं उत्तराखंड की जनता से कहना चाहूंगा, कहीं पर आपको ऐसे संदिग्ध व्यक्ति लगते हैं तो आप सरकार को सूचित करें. हम एक-एक को बाहर खदेड़ेंगे.’

बता दें कि बीजेपी महासचिव राम माधव ने कहा था कि असम में नैशनल रजिस्टर ऑफ सिटिजन (एनआरसी) की अंतिम सूची में शामिल नहीं किए जाने वाले लोगों का मताधिकार छीन लिया जाएगा और उन्हें वापस उनके देश भेज दिया जाएगा.इस बीच, बीजेपी नेता और असम के मुख्यमंत्री सर्वानंद सोनोवाल ने कहा कि एनआरसी को पूरे भारत में लागू किया जाए.