कथावाचक देवकीनंदन ठाकुर जी महाराज को मिली धमकी, ये रही वजह

एससी -एसटी एक्ट में संशोधन का विरोध कर रहे कथावाचक देवकीनंदन ठाकुर जी महाराज को धमकी मिलनी शुरू हो गई है. उन्हें एक शख्स ने सोशल मीडिया पर बोटी-बोटी काटने की धमकी दी है. देवकीनंदन ठाकुर जी महाराज को वीडियो में धमकी देने वाला शख्स ने खुद को भीम आर्मी का बताया है.

वीडियो में उस शख्स ने कहा है कि देवकी नंदन ठाकुर अपनी कथा पढ़ ले. तेरे बस की नहीं है आंदोलन करना. जिस दिन मुझसे भिड़ गया, उस दिन तुझे ठोंक देंगे भीतर तक. अपनी औकात में रह. जिस दिन भीम सेना के हत्थे चढ़ गया तेरी बोटी बोटी काट देंगे . इस वीडियो के सामने आने के बाद कथावाचक देवकी नंदन ठाकुर ने बहुत सधी हुई प्रतिक्रिया देते हुए कहा कि हम ऐसी धमकियों से डरने वाले नहीं हैं . इस मामले में हम मुकदमा दर्ज कराएंगे.

बता दें कि देवकी नंदन ठाकुर सवर्णों और ओबीसी द्वारा एससी-एसटी एक्ट में संशोधन के विरोध का नेतृत्व कर रहे हैं. देवकी नंदन ठाकुर के देश और विदेश में तमाम शिष्य हैं, लिहाजा उनके नेतृत्व में आंदोलन बड़ा रूप ले सकता है. इस बात का अंदेशा सरकार को भी है. लिहाजा पहले आगरा जिला प्रशासन ने उन्हें खंदौली में सभा करने से रोक दिया और बाद में जब वे आगरा के एक होटल में प्रेसवार्ता कर रहे थे तो प्रेस वार्ता को बीच में रोक कर उनकी गिरफ्तारी कर ली गई. हालांकि दो घंटे बाद उन्हें निजी मुचलके पर रिहा कर दिया गया.

बता दें कि देवकीनंदन ठाकुर ने सरकार को दो महीने के अंदर एससी-एसटी एक्ट को सुप्रीम कोर्ट के निर्देशों के अनुरूप बनाने की चेतावनी दी है और कहा है कि यदि ऐसा नहीं हुआ तो देश में वो होगा जो कभी नहीं हुआ .