नवाज की पत्नी कुलसुम का लंदन में निधन

लंदन|…. पाकिस्तान के पूर्व प्रधानमंत्री नवाज शरीफ की बेगम कुलसुम नवाज का लंदन के एक अस्पताल में मंगलवार को निधन हो गया. उनका कई महीनों से कैंसर का इलाज चल रहा था. यह जानकारी नवाज के परिवार ने दी. भ्रष्टाचार के मामले में नवाज शरीफ व मरियम वर्तमान में रावलपिंडी के अदियाला जेल में सजा काट रहे हैं. उनके परिवार में चार बच्चे -हसन, हुसैन, मरियम व आसमा हैं.

गृह मंत्रालय के सूत्रों जियो न्यूज से कहा कि नवाज शरीफ, उनकी बेटी मरियम व उनके दामाद मोहम्मद सफदर को कुलसुम नवाज के जनाने में भाग लेने के लिए पैरोल दी जाएगी.इससे पहले दिन में कुलसुम (68) की हालत बिगड़ने पर उन्हें जीवनरक्षक प्रणाली पर रखा गया था.

कुलसुम नवाज को बीते साल अगस्त में लिम्फोमा कैंसर की पहचान हुई थी और इसके बाद से वह लंदन में थीं, जहां उनकी कई सर्जरी की गई. पाक सुप्रीमकोर्ट द्वारा पति को अयोग्य करार दिए जाने के बाद कुलसुम नवाज लाहौर के एनए-120 निर्वाचन क्षेत्र से निर्वाचित हुई थीं.

नवाज शरीफ के 1999 के सैन्य विद्रोह के बाद निर्वासन के दौरान कुलसुम ने पाकिस्तान मुस्लिम लीग-नवाज की बागडोर संभाली थी और 1999 से 2000 तक इसकी अध्यक्ष रहीं.

कुलसुम का जन्म 1950 में एक कश्मीरी परिवार में हुआ था. उन्होंने लाहौर के फॉरमैन क्रिश्चियन कॉलेज से स्नातक किया था और पंजाब विश्वविद्यालय से 1970 में उर्दू में मास्टर डिग्री ली थी.

सभी राजनीतिक नेताओं, विरोधियों व अन्य ने उनके निधन पर शोक जताया है. राष्ट्रपति आरिफ अल्वी ने शरीफ के परिवार के प्रति संवेदना व समर्थन जताया है. प्रधानमंत्री इमरान खान ने दुख जताया और सरकार से इस समय परिवार को कानून के अनुसार सभी मदद देने का भरोसा दिया.

इमरान ने ट्वीट किया, “बेगम कुलसुम नवाज की निधन की खबर सुनकर दुखी हूं. वह एक साहसी महिला थीं और उन्होंने दृढ़ता के साथ बीमारी का सामना किया. शरीफ परिवार के साथ मेरी संवेदनाएं हैं.”

इमरान खान ने पाकिस्तान उच्चायोग से लंदन में कुलसुम के परिवार की हर संभव मदद करने को कहा है. पाकिस्तान पीपुल्स पार्टी के अध्यक्ष बिलावल भुट्टो ने कुलसुम को ‘बहादुर महिला’ बताया, जिन्होंने लोकतंत्र के लिए संघर्ष किया. सेना प्रमुख जनरल कमर जावेद बाजवा ने कुलसुम नवाज के निधन पर शोक संतप्त परिवार के साथ अपनी संवेदना जताई.