महज 30 हजार की ईएमआई के लिए कर दी एचडीएफसी बैंक उपाध्यक्ष की हत्या

सोमवार को एचडीएफसी बैंक के लापता उपाध्यक्ष सिद्धार्थ संघवी का शव कल्याण के हाजी मलंग इलाके से बरामद किया गया. सिद्धार्थ 5 सितंबर से मुंबई स्थित अपने कमला मिल्स ऑफिस से लापता चल रहे थे. जिसके बाद पुलिस ने इस मामले में सरफराज शेख नामक शख्स को गिरफ्तार कर  सोमवार को भोईवाड़ा कोर्ट में पेश किया जहां कोर्ट ने उसे 19 सितंबर तक पुलिस कस्टडी में भेज दिया है.

मामले में प्रेस कॉन्फ्रेंस कर मुंबई पुलिस ने दावा किया है कि सिद्धार्थ संघवी की हत्या सरफ़राज़ ने ईएमआई के लिए की है. सिद्धार्थ ने पूछताछ में बताया कि उसे पैसों की सख्त जरुरत थी. इस लिए उसने इस हत्याकांड को अंजाम दिया है.

पुलिस से मिली जानकारी के मुताबिक सरफराज़ सिद्धार्थ को किडनैप कर उसके पिता से फिरौती वसूलना चाहता था. ताकि अपनी ईएमआई भर सके. उसका मकसद सिर्फ लूट था लेकिन उसकी पहचान ज़ाहिर हो जाने के डर से उसने सिद्धार्थ संघवी को मार डाला और फिर उसके शव को ठिकाने लगा दिया.

आरोपी सरफ़राज़ ने पूछताछ में ये खुलासा किया है कि उसे पैसों की सख्त जरूरत थी. इस वजह से उसने वारदात को अंजाम दिया. उसका मकसद सिर्फ लूटपाट करना था मगर सिद्दार्थ ने उसे पकड़ने की कोशिश की तो उसने उसकी हत्या कर दी. उसने पुलिस से बताय कि उसे ईएमआई भरना था और 30 से 35 हजार की सख्त जरूरत थी. जब कहीं से पैसों का इंतज़ाम नहीं हुआ तो उसने इस वारदात को अंजाम दिया. पुलिस ने बताय कि सिद्धार्थ की हत्या के बाद उसने उसके पिता से फ़ोन पर बात भी की थी. उसने उन्हें फोन कर सिद्दार्थ के अगवा होने की बात कही थी. उसने उन्हें बताया था कि सिद्दार्थ का अपहरण कर लिया गया है. पुलिस ने आरोपी के पास मोबाइल रिकवर कर लिया है.

अपने मंसूबों में कामयाब होने के लिए सरफराज ने सिद्धार्थ संघवी की लगातार पांच दिनों तक रेकी की. बुधवार शाम जैसे ही सिद्दार्थ कार के पास पहुंचा उसने उसे चाक़ू के नोक पर कार में बैठने को कहा. लेकिन सिद्धार्थ उससे उलझने लगा तो उसने उस पर चाक़ू से हमला कर दिया. सिद्दार्थ अभी ज़िंदा ही था की उसने उसे कार में डाला और वहां से निकल गया. शव को ठिकाने लगाने के बाद उसने सिद्दार्थ के पिता को अपहरण की कहानी सुनाई और उनसे फिरौती की रकम वसूलने की कोशिश भी की.

पुलिस के मुताबिक सरफराज तीन सालों से वहां फेब्रिकेशन का काम करता था. इससे पहले वो ओला की टैक्सी चलाता था. पुलिस उससे इस पूछताछ कर इस क़त्ल के तह तक पहुँचने की कोशिश करेगी.