पेट्रोल-डीजल की कीमतों ने बनाया बढ़ोतरी का नया रिकार्ड

एक दिन के ठहराव के बाद गुरुवार को ईंधन कीमतों में फिर वृद्धि हुई और पेट्रोल 79.51 रुपये प्रति लीटर तथा डीजल 71.55 रुपये प्रति लीटर की ऊंची दर पर बिकी, जिसने पिछले सभी रिकार्डस को तोड़ दिए.

इंडियन ऑयल कार्पोरेशन (आईओसी) के मुताबिक पेट्रोल की कीमत में 20 पैसे की बढ़ोतरी हुई, जो एक दिन परले 79.31 रुपये प्रति लीटर की दर पर बिकी थी, जबकि डीजल की कीमतों में 21 पैसे की बढ़ोतरी हुई, जो एक दिन पहले 71.34 रुपये प्रति लीटर की दर पर बेची गई थी। ईंधन कीमतें मंगलवार तक लगातार पिछले दस दिनों से बढ़ रही थी.

ईधन कीमतों में बढ़ोतरी का मुख्य कारण कच्चे तेल की कीमतों में बढ़ोतरी और सरकार द्वारा इन पर वसूले जाने वाले उच्च उत्पाद कर है. इसके अलावा हाल ही में डॉलर के मुकाबले रुपये की कीमत में आई ऐतिहासिक गिरावट ने भी कच्चे तेल के आयात को महंगा बना दिया है, जिसका असर ईंधन कीमतों पर हो रहा है.

मुंबई में, पेट्रोल कीमतों में 19 पैसे की वृद्धि हुई और यह 86.91 रुपये प्रति लीटर की दर पर तथा डीजल 22 पैसे की वृद्धि के साथ 75.96 रुपये प्रति लीटर की दर पर बेची गई. अन्य दो महानगरों चेन्नई और कोलकाता में ईंधन की कीमतों में 19 पैसे से लेकर 22 पैसे की बढ़ोतरी हुई.

चेन्नई में पेट्रोल 21 पैसे की बढ़ोतरी के साथ 82.62 रुपये प्रति लीटर की दर पर तथा कोलकाता में पेट्रोल 19 पैसे की बढ़ोतरी के साथ 82.41 रुपये प्रति लीटर की दर पर बेची गई. डीजल की कीमतों में चेन्नई में 22 पैसे की बढ़ोतरी हुई और यह 75.61 रुपये प्रति लीटर की दर पर बिकी, जबकि कोलकाता में डीजल 21 पैसे की बढ़ोतरी के साथ 74.40 रुपये प्रति लीटर की दर पर बेची गई.

वित्त मंत्री अरुण जेटली ने बुधवार को कहा कि ईंधन कीमतों में बढ़ोतरी पर सरकार को तुरंत कोई कदम उठाने की जरूरत नहीं है, क्योंकि यह कच्चे तेल की कीमतों में वृद्धि के कारण बढ़ रहा है.