भाजपा कार्यकर्ताओं ने शत्रुघ्न सिन्हा को दिखाए काले झंडे, जानिए वजह

भाजपा नेता शत्रुघ्न सिन्हा बीजेपी के खिलाफ पूरी तरह मोर्चा खोल रखा, लेकिन उन्हें शायद पहली बार पार्टी कार्यकर्ताओ का विरोध सहना पड़ा. उन्हें दिल्ली के शहादरा में एक कार्यक्रम के बाद पार्टी कार्यकर्ताओ ने काला झंडा दिखाए.

शुक्रवार को शत्रुघ्न सिन्हा दिल्ली के शाहदरा में वह उप मुख्यमंत्री और आम आदमी पार्टी के नेता मनीष सिसोदिया के साथ वह मैला ढोने वाले लोगों के पुनर्वास कार्यक्रम में हिस्सा लेने गये थे.

इस कार्यक्रम के दौरान शत्रुघ्न सिन्हा ने कहा था की अप्रिय सत्य बोलने में कुछ भी गलत नहीं है. उन्होंने स्वास्थ्य एवं शिक्षा क्षेत्रों में आप सरकार की ‘उपलब्धियों’ को लेकर उसकी तारीफ की थी.

कई मुद्दों पर भाजपा और इसके नेतृत्व की आलोचना करने वाले सिन्हा ने हाथ से मलबा उठाने वालों के लिए एक कौशल प्रशिक्षण कार्यक्रम के उद्घाटन अवसर पर कहा कि वह सत्ता के लोगों को आईना दिखाते हैं और जनहित के मुद्दों को उठाते हैं.उन्होंने पंजाब के मंत्री नवजोत सिंह सिद्धू का भी बचाव किया जो हाल में इमरान खान के पाकिस्तान के प्रधानमंत्री के रूप में शपथ लेने के समारोह में शामिल होने के कारण आलोचनाओं में घिर गए हैं.

सिन्हा ने कहा कि ‘इसमें कुछ भी विवादास्पद नहीं है.’ भारतीय जनता पार्टी और इसके नेतृत्व की आलोचना करते हुए उन्होंने कहा, ‘मैं अपनी लक्ष्मण रेखा जानता हूं. मैं मर्यादा और लक्ष्मण रेखा के बीच का अंतर जानता हूं. जब तक पार्टी का हिस्सा हूं इसके प्रति वफादार हूं. लेकिन जो लोग चाटुकारिता में लिप्त हैं उन्हें समझना चाहिए कि अप्रिय सत्य बोलने में कुछ भी गलत नहीं है.

सिन्हा ने कहा की वह जानते है की पार्टी एक व्यक्ति से अधिक महत्वपूर्ण है तथा एक देश एक पार्टी अधिक महत्वपूर्ण है प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के मासिक रेडियो कार्यक्रम की ओर इशारा करते हुए उन्होंने कहा में दिल की बात करता हु क्यों की मन की बात का पेटेंट किसी और के पास है