बिहार के मंत्री ने तेजस्वी के खिलाफ परिवाद पत्र दायर किया

मुजफ्फरपुर बालिका आश्रयगृह में यौनाचार के मामले में नाम घसीटे जाने पर बिहार के नगर विकास व आवास मंत्री सुरेश शर्मा ने विधानसभा में विपक्ष के नेता तेजस्वी यादव के खिलाफ बिहार की एक अदालत में परिवाद पत्र दायर किया है.

मुजफ्फरपुर व्यवहार न्यायालय के मुख्य न्यायिक दंडाधिकारी हरि प्रसाद की अदालत में दायर इस परिवाद पत्र में स्थानीय विधायक और मंत्री शर्मा ने कहा है कि मुजफ्फरपुर बालिका आश्रय गृह मामले से उनका दूर-दूर तक कोई संबंध नहीं है.

इसके बावजूद, तेजस्वी यादव राजनीतिक वैमनस्यता के कारण इस संबंध में लगातार गलत बयानबाजी कर रहे हैं. इससे उनकी राजनीतिक व सामाजिक प्रतिष्ठा धूमिल हो रही है.

मंत्री के अधिवक्ता अरविंद कुमार ने शनिवार को बताया, “इस मामले की सुनवाई 29 अगस्त को होगी. उन्होंने बताया कि 28 जुलाई को तेजस्वी को गलत बयानबाजी के लिए कानूनी नोटिस भेजा गया था, लेकिन उन्होंने इसका कोई जवाब नहीं दिया. उल्टे वे लगातार बयानबाजी कर रहे हैं.”

गौरतलब है कि तेजस्वी यादव ने सुरेश शर्मा पर आश्रय गृह की 34 लड़कियों के यौन शोषण के मामले में मुख्य आरोपी ब्रजेश ठाकुर के साथ संबंध होने का आरोप लगाया था. तेजस्वी ने इस मामले में मंत्री के इस्तीफे की भी मांग की थी.