आज लखनऊ में गोमती नदी में विसर्जित होंगी वाजपेयी की अस्थियां

उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ से कई बार सांसद रह चुके दिवंगत पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी की अस्थियां गुरुवार को यहां पहुंचेगी. गुरुवार को ही उनकी अस्थियां गोमती नदी में विसर्जित की जाएंगी. केंद्रीय गृहमंत्री राजनाथ सिंह, भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष डॉ. महेंद्रनाथ पांडेय और अटलजी के परिजन अस्थि कलश लेकर गुरुवार दोपहर तक विशेष विमान से लखनऊ आएंगे.

अमौसी एयपोर्ट से झूलेलाल पार्क तक गोमती नदी के तट तक भाजपा कार्यकर्ता अस्थि कलश लेकर आएंगे.

प्रदेश प्रवक्ता हीरो वाजपेयी ने बताया कि अस्थियां विसर्जन से पहले गोमती नदी के तट पर स्थित झूलेलाल पार्क में सर्वदलीय श्रद्घांजलि सभा का आयोजन रखा गया है. सभा में सभी दलों के नेता और पदाधिकारी अटलजी को श्रद्घासुमन अर्पित करेंगे. उसके बाद अस्थियां गोमती नदी में विसर्जित की जाएगी.

प्रदेश मीडिया प्रभारी मनीष दीक्षित ने बताया कि 24 अगस्त को सरकार के मंत्री और भाजपा के प्रदेश पदाधिकारी अस्थि कलश लेकर 16 जगहों के लिए निकलेंगे. प्रदेश की प्रमुख नदियों में भी 24 और 25 नवंबर को अस्थियां विसर्जित की जाएंगी.