वरिष्ठ कांग्रेसी नेता गुरुदास कामत का निधन

पूर्व केंद्रीय मंत्री व वरिष्ठ कांग्रेस नेता गुरुदास कामत का बुधवार को नई दिल्ली के एक निजी अस्पताल में दिल का दौरा पड़ने से निधन हो गया. पार्टी के अधिकारियों ने यह जानकारी दी. वह 63 साल के थे.

परिवार के एक करीबी मित्र ने बताया कि कामत अपने पीछे पत्नी महारुख कामत और बेटे सुनील को छोड़ गए हैं.

दोस्त के मुताबिक, नई दिल्ली स्थित आवास में सुबह चाय पीने के दौरान कामत ने अचानक सीने में तेज दर्द होने की शिकायत की.

उन्होंने अपने ड्राइवर को आवाज लगाई जो फौरन उन्हें चाणक्यपुरी स्थित प्राइमस अस्पताल ले गया. कहा जा रहा है कि वहां उन्होंने कुछ ही मिनटों के भीतर दम तोड़ दिया.

मुंबई में कामत के करीबी सहयोगी धर्मेश व्यास और केतन शाह ने कहा कि उन्हें इस खबर को सुनकर यकीन नहीं हो रहा है और ऐसा लग रहा है कि जैसे उन्होंने अपने बड़े भाई और मार्गदर्शक को खो दिया है.

मुंबई उत्तर-पूर्व लोकसभा क्षेत्र से पांच बार सांसद रह चुके पार्टी के युवा चेहरे कामत 2009 में केंद्रीय गृह राज्य मंत्री रहे, 2011 में उन्होंने यह पद छोड़ दिया.

बाद में, वह पार्टी मामलों के महासचिव बने, लेकिन अचानक पिछले साल सभी पदों को छोड़ दिया, हालांकि वह अंत तक कांग्रेस के एक प्रभावी नेता बने रहे.

महाराष्ट्र कांग्रेस के प्रवक्ता सचिन सावंत ने शोक संदेश में कहा, “कांग्रेस के एक बेहद ऊर्जावान और लोकप्रिय चेहरे और एक महान नेता गुरुदास कामत अब नहीं रहे.”

कामत ने मंगलवार रात को बकरीद की बधाई देते हुए ट्वीट कर कहा था, “ईद-उल-अजहा मना रहे मेरे सभी दोस्तों को ईद मुबारक. आप सबकी दुआएं कुबूल की जाएं. शांति, खुशी और उल्लास आपके जीवन और घर से कभी नहीं जाए.”