आशुतोष के बाद आशीष खेतान ने भी ‘आप’ छोड़ी

आम आदमी पार्टी (आप) नेता आशीष खेतान ने बुधवार को पार्टी से इस्तीफा देने की घोषणा की है. इससे पहले आप के एक अन्य वरिष्ठ नेता आशुतोष ने भी सप्ताह भर पहले पार्टी से इस्तीफा दिया था.

आशीष ने फेसबुक पर पोस्ट किया, “इससे पहले इसी वर्ष मैंने परिजनों और करीबी मित्रों से सलाह लेकर और काफी सोच-समझ कर सक्रिय राजनीति से अलग होने का निर्णय लिया था. लेकिन, पार्टी और सरकार के विभिन्न परेशानियों में रहने के कारण मैं इसका ऐलान नहीं कर सका और इसकी औपचारिक घोषणा करने के लिए सही समय का इंतजार कर रहा था. मैंने पार्टी नेतृत्व को भी कई बार अपना निर्णय बताया था.”

उन्होंने कहा कि पार्टी और सक्रिय राजनीति से अलग होने के उनके ‘निजी निर्णय’ को आप से जोड़कर नहीं देखा जाना चाहिए. उन्होंने कहा, “मुझे पार्टी, इसके सदस्यों और कार्यकर्ताओं से भरपूर प्यार मिला है और इसके लिए मैं हमेशा आभारी रहूंगा.”

फेसबुक पर उनकी यह पोस्ट राजनीतिक हलकों में कई अनुमानों और उनके पार्टी छोड़ने की रिपोर्ट के बाद आई है. इससे पहले उन्होंने ट्विटर पर अपने निर्णय की जानकारी दिए बिना अस्पष्ट जवाब दिए थे.

खेतान के निर्णय पर पार्टी से कोई आधिकारिक बयान नहीं आया है. आशुतोष के मामले में मुख्यमंत्री और पार्टी के संयोजक अरविंद केजरीवाल ने उनका इस्तीफा मंजूर नहीं किया है.

खेतान ने इससे पहले अप्रैल में व्यवसाय संबंधित वकालत करने के लिए दिल्ली वार्ता और विकास आयोग (डीडीसी) के उपाध्यक्ष पद से इस्तीफा दिया था.

उन्होंने कहा था कि वह वकालत करने के साथ-साथ लेखन की तरफ भी लौटना चाहते हैं. सक्रिय राजनीति में आने से पहले खेतान पत्रकार थे. उन्होंने इन अफवाहों को भी गलत बताया कि उनके इस्तीफे का कोई भी संबंध लोकसभा चुनाव के टिकट से है.

उन्होंने कहा, “पार्टी ने मुझसे आगामी लोकसभा चुनाव लड़ने के लिए कहा था लेकिन मैंने विनम्रता से इसे नामंजूर कर दिया था. एक और चुनाव लड़ने से मैं राजनीति की दुनिया में और गहरे चला जाता जो कि अभी मैं नहीं चाहता. खेतान ने कहा, “मैं पार्टी में अपने पूर्व सहकर्मियों का बहुत सम्मान करता हूं और भविष्य के लिए शुभकामनाएं देता हूं.”