गूगल ने डूडल बनाकर फुटबॉल के मशहूर खिलाड़ी एबेनेज़र कॉब मोर्ली को किया याद

गूगल ने डूडल बनाकर आज फादर आँफ मॉडर्न फुटबॉल के नाम से मशहूर खिलाड़ी एबेनेज़र कॉब मोर्ली को याद किया एबेनेज़ेर कॉब मोर्ले पेशे से वकील थे और उन्होंने फुटटबाँल की दुनिया को ही बदलकर रख दिया.

फुटबाँल एसोशिएशन के जनक माने जाने मशहूर फुटबाँलर एबेनेज़ेर कॉब मोर्ले के 187 जन्मदिन पे गूगल ने डूडल बनाकर श्रद्धांजलि दी है बता दें, एबेनेज़र कॉब मोर्ली का जन्म 16, अगस्त 1831 को किंगस्टन (इंग्लैड) में हुआ था बचपन से ही उनका झुकाव फुटबॉल की ओर था. उन्होंने अपना पहला मैच 1863 को खेला था पेशे से वकील एबेनेज़ेर कॉब मोर्ले का निधन 93 की उम्र में रिचमेंड (इंग्लैड) में 20 नवंबर, 1924 को हुआ था.

मॉर्ली ने अपने नियमों के बारे में एक खेल समाचार-पत्र ‘बेल्स लाइफ’ में एक लेख भी लिखा था. इसके बाद फुटबॉल क्लबों के समूह सदस्यों की एक बैठक हुई. उसमें मॉर्ली ने अपने 13 नियमों के बारे में बताया. यही नियम आगे चल कर इंग्लैंड में फुटबॉल के नए मानक बन गए.

यह मॉर्ली के नियमों का ही नतीजा था कि इस खेल के दौरान मैदान में होने वाली हिंसा में कमी आई. 1863 में मॉर्ले को फुटबॉल एसोसिएशन का सचिव चुना गया. वे 1866 तक इस पद पर रहे. उसके बाद 1867 से 1874 तक मॉर्ली फुटबॉल एसोसिएशन के अध्यक्ष रहे. 20 नवंबर, 1924 को इंग्लैंड के रिचमंड में उनका निधन हो गया.