तिरंगे के अपमान पर अमित शाह पर मुकदमा करेगी बविपा

बहुजन विजय पार्टी (बविपा) ने भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह द्वारा गत 15 अगस्त को किए गए तिरंगे के अपमान को बेहद दुखद, राष्ट्रीय भावना के विरुद्ध व तिरंगे के अपमान की पराकाष्ठा बताते हुए कहा कि वह शाह के विरुद्ध न्यायालय जाएगी.

बविपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष केशव चंद्र ने गुरुवार को लखनऊ में कहा कि यह आश्चर्य का विषय है कि आजादी के 72वें वर्ष में सत्तारूढ़ दल के वरिष्ठ नेता व राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह को झंडा फहराना नहीं आता. उन्होंने कहा कि बेहद शर्मनाक यह प्रकरण पूरी दुनिया ने देखा. इससे देशवासियों की भावनाएं आहत हुईं.

उन्होंने कहा कि झंडारोहण के दौरान अमित शाह झंडे को खींचकर जमीन पर ले आते हैं, जो नेशनल फ्लैग कोड, 2002 के अंतर्गत दंडनीय अपराध है.

केशव ने कहा कि तिरंगे का अपमान किसी भी दशा में नहीं होना चाहिए और जमीन से उसका स्पर्श नहीं होना चाहिए. तिरंगे का जमीन से स्पर्श कराने पर 3 साल की कैद या जुर्माना या दोनों हो सकता है.

बविपा अध्यक्ष ने कहा कि उनके पास इस बात के सबूत हैं कि भाजपा के कार्यक्रमों में राष्ट्रगान गाते समय पार्टी का झंडा फहराया जाता है, लेकिन पार्टी अध्यक्ष होने के नाते अमित शाह ने कभी कोई कार्रवाई नहीं की है. उन्होंने कहा कि चुनाव आयोग ने भी कभी इस बात का संज्ञान नहीं लिया है. सच्चाई यह है कि भाजपा का ‘प्रखर राष्ट्रवाद’ राष्ट्रीय ध्वज पर भी हावी होता जा रहा है.

केशव चंद्र ने कहा कि समय-समय पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी भी देश ही नहीं, विदेशों में भी राष्ट्रगान का अपमान कर चुके हैं. राष्ट्रगान के समय मोदी चहलकदमी करने लगते हैं, जो पूरी दुनिया देख चुकी है.