एशियाई स्वर्ण पदक विजेता हकम सिंह का निधन

एशियाई खेलों में भारत के लिए स्वर्ण पदक जीतने वाले एथलीट हकम सिंह भट्टल का मंगलवार को संगरूर में एक निजी अस्पताल में निधन हो गया. पंजाब के युवा एवं खेल मंत्री राणा गुरमीत सिंह ने हकम सिंह के निधन पर शोक व्यक्त किया.

हकम सिंह ने 1978 में बैंकॉक में हुए एशियाई खेलों में पुरुषों की 20 किलोमीटर पैदल चाल स्पर्धा का सोना अपने नाम किया था. साल 2008 में उन्हें ध्यानचंद पुरस्कार से नवाजा गया था.

गुरमीत ने हकम के निधन पर शोक व्यक्त करते हुए कहा, “पंजाब और देश खेल जगत में हकम की इस उपलब्धि को हमेशा याद रखेगा. उनके निधन से एक युग का समापन हुआ है और खेल जगत को बहुत बड़ा नुकसान हुआ है.”

हकम सिंह लीवर संबंधी बीमारी से ग्रसित थे और काफी लंबे समय से अस्पताल में भर्ती थे. हकम सिंह ने 1972 में 6 सिख रेजिमेंट हवलदार के तौर पर जॉइन किया था.

1981 में लगी एक भयंकर चोट की वजह से हकम सिंह ने खेलना छोड़ना पड़ा, लेकिन इसके बाद वह एथलेटिक्स से जुड़े रहे थे. 1987 में वह सेना से रिटायर हुए. पंजाब पुलिस ने खेलों में उनके अपार अनुभव को देखते हुए 2003 में उन्हें एथलेटिक्स कोच के तौर पर कॉन्स्टेबल रैंक की नौकरी दे दी. यहां से वह 2014 में रिटायर हुए.