भारत ऐसी ट्रेन जिसे अक्षम चालक बर्बादी की ओर ले जा रहा है : राहुल गांधी

कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने मंगलवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर जोरदार हमला बोला और कहा कि उनके चार वर्षो के शासनकाल के बाद, भारत एक ‘ऐसी ट्रेन जैसा हो गया है, जिसे एक निरंकुश, अक्षम और अहंकारी चालक बर्बादी की ओर ले जा रहा है.’ राहुल ने इसके साथ ही आरोप लगाया कि जब से राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (राजग) सत्ता में आया है, ‘राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (आरएसएस) सभी संस्थानों पर प्रणालीगत तरीके से हमला कर रहा है और उसे बर्बाद कर रहा है.’

उन्होंने यहां कांग्रेस संसदीय दल की बैठक में कहा कि बीते चार वर्षो में अक्षमता के चलते अर्थव्यवस्था के गिरने के बीच भ्रष्टाचार अपने चरम पर पहुंच गया है.

राहुल ने याद करते हुए कहा कि 2014 से पहले मोदी कैसे कहा करते थे कि भारत आजादी के बाद एक धीमी ‘यात्री ट्रेन’ बन गया है और वह कहा करते थे कि कैसे उनके नेतृत्व में देश एक चमकदार और बढ़िया ‘चमत्कारी ट्रेन’ बन जाएगा जो ‘अच्छे दिन’ की ओर जाएगा.

राहुल ने कहा, “मोदी के शासन के चार वर्षो बाद, दुर्भाग्यवश, भारत एक ऐसी ट्रेन की तरह बन गया है, जिसे एक निरंकुश, अक्षम और अहंकारी चालक बर्बादी की ओर ले जा रहा है. जिसे उन यात्रियों के बारे में कोई चिंता नहीं है, जिसके लिए वह जिम्मेदार है.”

कांग्रेस अध्यक्ष ने कहा, “भारत के लोग बदलाव की मांग कर रहे हैं. लोग आपकी उस चमत्कारिक ट्रेन को लेकर बेवकूफ नहीं बनेंगे जो एक दुर्घटना की ओर जा रही है.”

उन्होंने कहा कि लोग मोदी सरकार को हटाने के लिए कांग्रेस और इसकी सहयोगी पार्टियों की ओर देख रहे हैं. लोग उनके बदले ऐसी सरकार लाना चाहते हैं जो उनकी समस्याओं को समझे और गरीबी, बेरोजगारी, असमानता को हटाए.

उन्होंने कहा, “दूसरे शब्दों में, हमारे ऊपर इस ऐतिहासिक संघर्ष को जीतने की जिम्मेदारी है जिसमें लोकतंत्र व सामाजिक न्याय का सामना निरंकुशता व सामाजिक महंतशाही (सोशल हाइरार्की) से है.”

राहुल ने कहा, “हमें यह सुनिश्चित करना होगा कि घृणा, विभाजन और हिंसा की ताकत जोकि संविधान को चोट पहुंचा रही है, उसे दोबारा सत्ता में आने से रोका जाए. हमें भारतीय किसानों और युवाओं की आंखों में उनके सम्मानपूर्ण जीवन और अच्छी आय की उम्मीद को फिर से जिंदा करना होगा. हमें उन साधारण परिवारों को राहत पहुंचानी होगी जो घरेलू ऋणों और जरूरी सामानों की बढ़ी हुई कीमतों के दोहरे बोझ के तले दब गए हैं. हमें भारत में महिलाओं की सुरक्षा सुनिश्चित करनी होगी.”

राहुल ने कहा, “आरएसएस और भाजपा सत्ता में आए. हमने हमारे सभी संस्थानों पर एक प्रणालीगत हमला होते देखा. आधुनिक भारत में, ये संस्थान लोकतंत्र के मंदिर कहे गए और आज आरएसएस इनमें से सभी को बर्बाद करना चाह रहा है.”

कांग्रेस अध्यक्ष ने कहा, “2014 में, मोदी ने दावा किया था कि अगर वह चुने जाएंगे तो वह युवाओं को प्रत्येक वर्ष 2 करोड़ नौकरियां देंगे, किसानों की आय बढ़ाएंगे, व्यापार में वृद्धि और समृद्धि आएगी. स्विस बैंकों से कालाधन वापस आएगा. सभी भारतीयों के खाते में 15 लाख रुपये दिए जाएंगे, पेट्रोल की कीमत कम होगी, महिलाओं को सुरक्षा और दलितों को न्याय मिलेगा.”

उन्होंने कहा, “सबको छोड़िए, नई नौकरियों के सृजन की सच्चाई यह है कि मौजूदा नौकरियां भी गायब हो रही हैं..जुलाई 2017 और अप्रैल 2018 के बीच बेरोजगारी दर दोगुनी हो गई है, जहां पिछले वित्तीय वर्ष में नौकरियों की संख्या में भी कमी आई है. बेरोजगारी दर जुलाई 2017 के 3.39 से बढ़कर मार्च 2018 में लगभग दोगुनी होकर 6.23 प्रतिशत हो गई है और इसके बढ़ने की आशंका है.”