सीएम योगी ने किया बाढ़ प्रभावित इलाकों का हवाई सर्वेक्षण

उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ व राज्य के अधिकांश जिलों में पिछले कई दिनों से हो रही बारिश की वजह से जनजीवन पूरी तरह से अस्त-व्यस्त हो गया है.

बारिश की वजह से कई जिलों के दर्जनभर गावों में बारिश का पानी घुस गया है, जिसके चलते उप्र के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ शनिवार को गोंडा में बाढ़ प्रभावित इलाकों का दौरा कर स्थिति का जायजा लिया.

इस बीच बारिश की वजह से वाराणसी, इलाहाबाद, आजमगढ़, बलिया, गाजीपुर और गोंडा में गंगा, यमुना और घाघरा के साथ ही सहायक नदियां उफान पर हैं. इससे इन जिलों में दर्जनभर गांवों में बाढ़ जैसे हालात हो गए हैं.

इस बीच गोंडा में भी एल्गिन चरसड़ी बांध में दरार आने के बाद से वहां के प्रशासन के कान खड़े हो गए हैं. अधिकारियों ने बांध में आई दरार को तुरंत दूर करने का निर्देश जारी किया.

गोंडा के प्रभारी मंत्री और सूबे के राज्य मंत्री उपेंद्र तिवारी ने मीडिया को बताया कि गोंडा में प्रवास के दौरान ही एल्गिन चरसड़ी बांध में दरार आने की सूचना मिली थी. सूचना मिलने के बाद ही तुरंत जिले के आला अधिकारियों के साथ देर रात में ही बांध की स्थिति का जायजा लिया और इसकी सूचना मुख्यमंत्री तक पहुंचाई गई.

उनहोंने बताया कि मुख्यमंत्री खुद ही शनिवार को गोंडा पहुंचें और एल्गिन चरसड़ी बांध में आई दरार को लेकर अधिकारियों के साथ बैठक की. सरकार पूरी तरह से स्थिति पर नजर बनाए हुए है.

उप्र मौसम विभाग के निदेशक जे. पी. गुप्ता के अनुसार, पिछले कई दिनों से रुक-रुककर हो रही बारिश का दौर अभी जारी रहेगा. दिन में कई जगहों पर तेज तो कई जगहों पर सामान्य बारिश होने का अनुमान है. पूर्वाचल के कई जिलों में अगले 48 घंटों के दौरान भारी बारिश होने की चेतावनी जारी की गई है.

मौसम विभाग के अनुसार, शनिवार को राजधानी लखनऊ का न्यूनतम तापमान 19 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया जबकि अधिकतम तापमान 30 डिग्री सेल्सियस रहने का अनुमान है.

लखनऊ के अतिरिक्त शनिवार को वाराणसी का न्यूनतम तापमान 21 डिग्री, कानपुर का 22 डिग्री, इलाहाबाद का 23 डिग्री, झांसी का 23.5 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया.