मुजफ्फरपुर बाल गृहकांड दुष्कर्म मामले में बंद से सड़क, रेल यातायात प्रभावित

बिहार के मुजफ्फरपुर में एक बालिका आश्रय गृह में 34 नाबालिग लड़कियों से दुष्कर्म के मामले में विपक्षी पार्टियों द्वारा बुलाए गए बंद से गुरुवार को रेल व सड़क यातायात प्रभावित हुआ.

राष्ट्रीय जनता दल (राजद), कांग्रेस, हिंदुस्तानी अवाम मोर्चा, समाजवादी पार्टी और लोकतांत्रिक जनता दल समेत विपक्षी दलों द्वारा राज्यव्यापी बंद का समर्थन किया जा रहा है.

वामपंथी पार्टी के कार्यकर्ताओं और उनके समर्थकों ने रेलवे पटरियों को अवरुद्ध कर दिया जिससे गुरुवार सुबह एक दर्जन से अधिक ट्रेनों का परिचालन प्रभावित हुआ.

रिपोटरें के अनुसार, दरभंगा, मधुबनी, जहानाबाद, गया, मुजफ्फरपुर, पटना और भोजपुर जिलों में ट्रेनों को रोक दिया गया.

प्रदर्शनकारियों ने सिवान, भोजपुर, नवादा, पटना, अरवाल, जगबाद जिलों में कई सड़कों को भी अवरुद्ध किया.

मुजफ्फरपुर आश्रय गृह उस समय सुर्खियों में आया जब बिहार समाज कल्याण विभाग ने टाटा इंस्टीट्यूट ऑफ सोशल साइंसेस (टीआईएसएस) द्वारा यहां किए गए सोशल ऑडिट के आधार पर एक मामला दर्ज कराया.

मुख्यमंत्री नीतीश कुमार की सिफारिश पर केंद्रीय जांच ब्यूरो (सीबीआई) ने रविवार को मुजफ्फरपुर आश्रय गृह दुष्कर्म मामला अपने हाथ में ले लिया.