सीसीटीवी से लोकसभा चुनावों में शराब, पैसा बांटना मुश्किल होगा : केजरीवाल

मंगलवार को दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने केंद्र सरकार पर उप राज्यपाल को दिल्ली में सीसीटीवी परियोजना को रोकने का निर्देश देने का आरोप लगाया. उन्होंने कहा कि कैमरों के लगने से 2019 के लोकसभा चुनावों के दौरान शराब व पैसा बांटना मुश्किल हो जाएगा.

केजरीवाल ने ट्वीट किया, “अगर दिल्ली में सीसीटीवी लगे होंगे तो भाजपा व कांग्रेस को चुनावों के दौरान शराब व पैसे बांटने में दिक्कत होगी. बीते रोज भाजपा के एक नेता ने कहा कि उप राज्यपाल से यह सुनिश्चित करने के लिए कहा गया है कि लोकसभा चुनावों से पहले कैमरे नहीं लगने पाएं.”

केजरीवाल ने एक अन्य ट्वीट में कहा, “भाजपा व कांग्रेस को बताना चाहिए कि वे कैमरा लगाने के क्यों खिलाफ हैं.”

राष्ट्रीय राजधानी में 1.5 लाख सीसीटीवी कैमरों को लगाया जाना आम आदमी पार्टी के चुनावी वादों में से एक है.

केजरीवाल ने सोमवार को लोक निर्माण विभाग (पीडब्ल्यूडी) अधिकारियों को सीसीटीवी परियोजना के लिए अनुमति दी. केजरीवाल ने यह इजाजत उप राज्यपाल द्वारा गठित एक कमेटी की रिपोर्ट को खारिज करने के बाद दी है.

समिति के मसौदे में कहा गया है कि दिल्ली पुलिस राजधानी के सार्वजनिक जगहों की सभी सीसीटीवी की संरक्षक होगी. इसमें आप सरकार की सीसीटीवी परियोजना भी शामिल होगी.