शोपियां फायरिंग मामला : सुप्रीम कोर्ट ने बढ़ाई मेजर आदित्‍य की अंतरिम सुरक्षा

सोमवार को शोपियां फायरिंग मामले में मेजर आदित्‍य के पिता लेफ्टिनेंट कर्नल कर्मवीर सिंह द्वारा दायर की गई याचिका पर सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई हुई  सुप्रीम कोर्ट ने मेजर आदित्य की अंतरिम सुरक्षा बढ़ा दी है और कहा कि 21 अगस्त तक उनके खिलाफ कोई कार्रवाई नहीं की जा सकती.

सुनवाई के दौरान केंद्र सरकार ने इस मामले को संविधान खंडपीठ को भेजने की मांग की है.अब इस मामले की सुनवाई 21 अगस्त को होगी.

मेजर आदित्‍य के पिता लेफ्टिनेंट कर्नल कर्मवीर सिंह ने दायर की गई याचिका में कहा है कि जम्मू में जनवरी महीने को हुई फायरिंग की घटना का इरादा नागरिकों को नुकसान पहुंचाना नहीं था बल्कि वहां पर आतंकियों के खिलाफ हो रही कार्रवाई से भीड़ को दूर रखना था.

ये है मामला
जानकारी के लिए आपको बता दें कि जनवरी महीने में जम्मू के शोपियां में विरोध कर रहे नागरिकों पर काबू पाने के लिए सेना के जवानों ने फायरिंग कर दी थी. सेना की ओर से की गई फायरिंग में जम्मू-कश्मीर के तीन नागरिकों की मौत हो गई थी. इस घटना के बाद जम्मू पुलिस ने 10 गढ़वाल रेजिमेंट के मेजर आदित्‍य के खिलाफ एफआईआर दर्ज कर दी थी.

इस मामले में सुप्रीम कोर्ट ने केंद्र सरकार और राज्य सराकर को फरवरी घटना के एक महीने बाद नोटिस दिया था. कोर्ट ने केंद्र और राज्य सरकार से एक हफ्ते के अंदर इस मामले पर अपनी राय स्पष्ट करें.

ऐसे में मेजर आदित्‍य के खिलाफ एफआईआर करना उनके मौलिक अधिकारों का हनन करना है. इसके अलावा उन्होंने अपनी याचिका में भी कहा कि इस तरह की एफआईआर से उन सैनिकों का मनोबल भी कम होगा जो देश की शांति के लिए खराब हालातों में शिद्दत से अपना फर्ज निभाते हैं.