सावन माह के पहले सोमवार को मंदिरों में उमड़ी भीड़, उज्जैन में महाकाल की निकली सवारी

मध्य प्रदेश में सावन माह के पहले सोमवार को मंदिरों में श्रद्घालुओं की भीड़ उमड़ी हुई है. उज्जैन में बाबा महाकाल की सवारी निकलेगी.

राज्य में सावन माह के पहले सोमवार को सुबह से मंदिरों में श्रद्घालु विशेष पूजा अर्चना में लगे हुए हैं. शिवलिंग को जल और विल्ब पत्र अर्पित कर श्रद्घालु अपनी मनोकामना पूरी होने की कामना कर रहे हैं. हर तरफ घंटों की आवाजें गूज रही हैं और जयकारे लगाते हुए श्रद्घालुओं की टोलियां मंदिरों में पहुंच रही है.

राजधानी के करीब भोजपुर के शिव मंदिर में राज्य के विभिन्न स्थलों से पहुंचे श्रद्घालु पूजा अर्चना कर रहे हैं. यहां पहुंच रहे भक्त धतूरा फल और पुष्प चढ़ा रहे हैं. इसी तरह खजुराहो के मतंगेश्वर मंदिर, खंडवा के ओंकारेश्वर आदि स्थानों पर भी बड़ी संख्या में श्रद्घालु पूजा अर्चना कर रहे हैं.

उज्जैन में बाबा महाकाल की सवारी निकलेगी. मान्यता है कि बाबा महाकाल अपनी प्रजा का हाल जानने के लिए सावन माह के सोमवार को सवारी पर निकलते हैं. सबसे पहले महाकाल की सवारी पालकी पर मंदिर परिसर से निकलेगी और फिर शहर के विभिन्न मागरें से होते हुए क्षिप्रा नदी के रामघाट पर पहुंचेगी, जहां पूजा अर्चना होगी और सवारी तय मार्ग से वापस लौटेगी.