‘देशद्रोही’ कहे जाने पर दिग्विजय गिरफ्तारी देने पहुंचे, करेंगे शिवराज पर मुकदमा

मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराजसिह चौहान द्वारा कथित तौर पर ‘देशद्रोही’ कहे जाने पर वरिष्ठ कांग्रेस नेता दिग्विजय सिंह गिरफ्तारी देने अपने समर्थकों के साथ गुरुवार को टीटी नगर थाना पहुंचे. पुलिस ने कोई मामला न होने के कारण उन्हें गिरफ्तार करने से इनकार कर दिया. दिग्विजय ने अब शिवराज के खिलाफ कानूनी कार्रवाई का ऐलान किया है.

पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय अपने पूर्व घोषित कार्यक्रम के अनुसार अपने समर्थकों के साथ गिरफ्तारी देने पहुंचे. उनका काफिला कांग्रेस के प्रदेश दफ्तर से शुरू हुआ. टीटी नगर थाना पहुंचने पर पुलिस ने दिग्विजय को यह कहकर गिरफ्तार करने से इनकार कर दिया कि उनके खिलाफ कोई मामला दर्ज नहीं है.

दिग्विजय ने पत्रकारों से कहा, “थाने में मुझे बताया गया कि मेरे खिलाफ कोई मामला दर्ज नहीं है.यह लिखित में भी मुझे दिया गया है. इसका मतलब है कि मुख्यमंत्री ने संवैधानिक पद पर रहते हुए झूठ बोला है. मैं उनके खिलाफ अदालत जाऊंगा और कानूनी कार्रवाई करूंगा.”

कांग्रेस नेता ने आगे कहा, “मुख्यमंत्री ने मुझ पर आरोप लगाया था कि मैं देशद्रोही हूं. इसका अर्थ है कि मेरे कारण देश की एकता व अखंडता को खतरा है. मुख्यमंत्री ने संविधान की शपथ ली है और उन्हें संविधान के मुताबिक काम करना है, इसलिए मैंने उचित समझा कि मैं स्वयं थाने पहुंचूं.”

उन्होंने कहा, “मैंने सोचा कि हो सकता है कि उनके पास मेरे खिलाफ देशद्रोह का कोई प्रमाण हो, लेकिन टीटी नगर थाना जो मेरे निवास क्षेत्र का थाना है, वहां से पता चला कि मेरे खिलाफ कोई मामला नहीं है. मुख्यमंत्री ने संवैधानिक पद पर रहते हुए झूठ बोला है. मैं उनके खिलाफ न्यायालय जाऊंगा और कानूनी कार्रवाई करूंगा।”

पिछले दिनों मीडिया में आई खबरों के अनुसार, शिवराज ने दिग्विजय सिंह को देशद्रोही कहा था. इस पर दिग्विजय ने उन्हें पत्र लिखा था और 26 जुलाई को टीटी नगर थाने पहुंचकर गिरफ्तारी देने का ऐलान किया था.