सीएम योगी का निर्देश, चरणबद्घ तरीके से हो मंडियों का आधुनिकीकरण

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री आदित्यनाथ की पहल पर अब मंडियों में भी वाई-फाई की सुविधा मिलेगी. मंडी परिषद की बैठक में लिए गए निर्णयों के मुताबिक, मंडियों के आधुनिकीकरण की योजना के पहले चरण में प्रदेश की 25 मंडियों को वाई-फाई युक्त किया जाएगा. मुख्यमंत्री ने बैठक में मंडियों का चरणबद्घ तरीके से आधुनिकीकरण कराए जाने का निर्देश दिया.

मुख्यमंत्री की अध्यक्षता में मंगलवार देर रात हुई बैठक में यह फैसला लिया गया. बैठक में लिए गए फैसलों के मुताबिक मंडियों में आधुनिक स्वागत कक्ष, सुविधायुक्त विश्रामालय व प्रसाधन गृह के अलावा कोल्ड स्टोर एवं राइपनिंग चेंम्बर की सुविधाएं भी मिलेंगी. इसके लिए 150 करोड़ अलग से रखे गए हैं.

मुख्यमंत्री ने कहा कि मंडियों को चरणबद्घ ढंग से आधुनिक बनाया जाए. प्रथम चरण में कुछ विकास खंडों का चयन कर वहां मंडी को सभी आधुनिक सुविधाओं से सुसज्जित किया जाए.

उन्होंने कहा कि केंद्र सरकार द्वारा खरीफ की फसल के 14 जिंसों का न्यूनतम समर्थन मूल्य घोषित किया गया है. अलीगढ़, मुरादाबाद आदि मंडलों में मक्के की फसल तैयार हो गई है. इसके न्यूनतम समर्थन मूल्य पर खरीद के निर्देश देते हुए उन्होंने कहा कि गेहूं और धान की तर्ज पर खरीफ की अन्य फसलों के क्रय की व्यवस्था की जाए.

सभी मंडियों व उपमंडियों में सीसीटीवी कैमरे लगाने के प्रस्ताव को भी मंजूरी दे दी है. बैठक में मंडी परिषद के वित्तीय वर्ष 2018-19 के लिए 2,911 करोड़ रुपये के व्यय बजट को मंजूर किया गया. इसके अलावा गोरखपुर के मण्डलायुक्त द्वारा कुशीनगर में नई मंडी के लिए भूमि क्रय एवं निर्माण के लिए 21़06 करोड़ रुपये के प्रस्ताव को मंजूरी दी गई.