चंद्रग्रहण 2018 : इस दिन लगेगा साल का दूसरा चंद्रग्रहण का समय, ये है समय

इस साल का दूसरा सबसे लंबा चंद्रग्रहण 27 जुलाई 2018 को लगने वाला है. यह चंद्रग्रहण आषाढ़ शुक्ल पूर्णिमा को लगेगा जो पूरे भारत में दिखाई देगा. साथ ही इस चंद्रग्रहण को ब्लड मून की संज्ञा दी जाएगी.

सदी के सबसे लम्बे पूर्ण चंद्रग्रहण के दौरान चंद्रमा लगभग 1 घंटे 43 मिनट तक पृथ्वी की छाया में पूरी तरह छिपा दिखाई देगा. चंद्रग्रहण के दौरान चंद्रमा जब पृथ्वी की छाया से निकल रहा होता है तो यह हल्के लाल रंग का दिखता है जिसे वैज्ञानिकों की भाषा में ब्लड मून कहते हैं.

चंद्रग्रहण का समय
भारतीय मानक समयानुसार 27 जुलाई को आंशिक चन्द्रग्रहण रात्रि 11 बजकर 54 मिनट से शुरू होगा. पूर्ण (खाग्रस) चंद्रग्रहण 28 जुलाई को 1:00 बजे शुरू होगा.

खगोल वैज्ञानिकों के अनुसार 28 जुलाई को चंद्रमा 1 बजकर 52 मिनट से 2 बजकर 43 मिनट तक सबसे ज्यादा अंधकार में रहेगा. दिल्ली में यह चंद्रग्रहण पूरी तरह दिखाई देगा, जो को आंशिक रूप से 11:44 में दिखाई देहा और पूर्ण रूप से 11:54 में दिखाई देगा.

इस चंद्रग्रहण की कुल अवधि 3 घंटे 55 मिनट की होगी. इस चाद्रग्रहण के बारे में ऐसा कहा जा रहा कि इस ग्रहण के बाद साल 2099 इतना लंबा और पूर्ण चंद्रग्रहण नहीं दिखेगा. चंद्रग्रहण के दौरान मंदिर में प्रवेश करना, मूर्ति को स्पर्श करना, भोजन करना, आदि करना निषेध माना गया है.

क्या होता है चंद्रग्रहण
खगोलशास्त्र शास्त्र के अनुसार चंद्र ग्रहण तब होता है जब चंद्रमा और सूर्य के बीच में पृथ्वी आ जाए. साथ ही ऐसी स्थिति में भी चंद्र ग्रहण माना जाता है जब पृथ्वी की छाया से चंद्रमा पूरी तरह या आंशिक रूप से ढक जाती है.
इस स्थिति में पृथ्वी सूर्य की किरणों को चंद्रमा तक नहीं पहुंचने देती है. इस वजह से पृथ्वी के उस हिस्से में चंद्र ग्रहण नजर आता है.