नवाज शरीफ को लगा एक और झटका, पार्टी के प्रमुख नेता हनीफ अब्बासी को उम्रकैद

इस्लामाबाद|…. पाकिस्तान की एक मादक पदार्थरोधी अदालत ने पाकिस्तान मुस्लिम लीग-नवाज (पीएमएल-एन) नेता हनीफ अब्बासी को आठ साल पुराने इफेड्राइन के मामले में आजीवन कारावास की सजा सुनाई है.

‘द एक्सप्रेस ट्रिब्यून’ की रिपोर्ट के मुताबिक, शनिवार की रात देर से जारी किए गए फैसले के मुताबिक, हनीफ अब्बासी खुद का बचाव करने में विफल रहे और उनके खिलाफ लगाए गए आरोप सही साबित हुए. पीएमएल-एन के उम्मीदवार अब्बासी, आवामी मुस्लिम लीग के प्रमुख शेख राशिद के खिलाफ मैदान में थे.

एंटी-नार्कोटिक्स बल (एएनएफ) के अधिकारियों ने अब्बासी को अदालत परिसर से गिरफ्तार कर लिया. अब्बासी दोषी करार दिए जाने से 25 जुलाई को होने वाले चुनावों के लिए भी अयोग्य हो गए हैं.

माना जा रहा है कि अब्बासी को रावलपिंडी की अदियाला जेल भेज दिया गया है जहां पर पूर्व प्रधानमंत्री नवाज शरीफ व उनकी बेटी मरियम व उनके दामाद जेल की सजा काट रहे हैं.

अदालत ने फैसला सुरक्षित रख लिया था, जिसे कई घंटों की देरी के बाद (पाकिस्तान के समयानुसार) रात 11 बजे घोषित किया गया.

डेली एक्सप्रेस से बातचीत करते हुए, अब्बासी ने कहा कि उन्हें न तो फैसले से खेद है और न ही वह निराश हैं.

उन्होंने कहा, मैं इस फैसले को उच्च न्यायालय में चुनौती दूंगा.

एक टीवी चैनल के अनुसार, एएनएफ अधिकारियों ने अब्बासी को हिरासत में लिया और सुरक्षा के साथ उन्हें मुख्य द्वार से ले जाने के बजाय न्यायाधीश के चेम्बर के दरवाजे से ले गए.

अब्बासी को सजा सुनाए जाने के तुरंत बाद अदालत परिसर से गिरफ्तार किया गया.

यह मामला 7 अरब पाकिस्तानी रुपये की इफ्रेडीन के कोटे को दो दवा कंपनियों, बेरलेक्स लैब इंटरनेशनल और दानस फार्मास्युटिकल को अवैध रूप से आवंटित किए जाने से जुड़ा है.

इस मामले में अब्बासी के अलावा पूर्व प्रधानमंत्री युसूफ रजा गिलाने के बेटे अली मुसा गिलानी व पूर्व स्वास्थ्य मंत्री मख्दूम शहाबुद्दीन भी आरोपी हैं.