मुख्यमंत्री योगी के इस फैसले से शिक्षामित्रों को मिली राहत

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने शिक्षामित्रों को राहत देते हुए मौजूदा तैनाती के स्थान पर मूल तैनाती वाले स्कूल में भेजने का निर्णय लिया है.

इससे शिक्षामित्रों को जिले के अंदर घर से दूर तैनाती से मुक्ति मिलेगी. मुख्यमंत्री ने शिक्षामित्रों को उनके मूल स्थान पर तैनात करने का विकल्प देने का फैसला किया है. इससे शिक्षामित्रों के पास विकल्प होगा कि वे या तो अपनी वर्तमान तैनाती के स्थान पर रहें या घर के पास मूल तैनाती वाले स्कूल में चले जाएं.

शासन से जुड़े एक वरिष्ठ अधिकारी के मुताबिक, मुख्यमंत्री के निर्णय के बाद विवाहित महिलाएं जिले में उस स्थान का भी चयन कर सकती हैं, जहां उनकी ससुराल का घर हो या उनके पति की तैनाती हो. इससे शिक्षामित्रों को उनके घर के नजदीक रहकर विद्यालय में कार्य करने का अवसर मिलेगा.

इसके साथ ही उन्हें दूर के विद्यालय में आने-जाने में होने वाले व्यय, मानसिक तनाव और परेशानी से मुक्ति मिलेगी. इसके साथ ही समय की बचत भी होगी. इस कदम से शिक्षामित्रों को कार्य करने के बेहतर अवसर मिलेंगे.